भाकपा (माले) लिबरेशन का दसवां यूपी राज्य सम्मेलन : कुछ गप्प-शप्प

दिनकर कपूरआमतौर पर कम्युनिस्ट पार्टियां अपने सम्मेलन में अपनी उपलब्धियों के साथ अपनी कमी कमजोरियों की शिनाख्त करती हैं और भविष्य के कार्यभार को तय करती हैं। लेकिन कुछ सम्मेलन गप्प शप्प के लिए भी होते हैं। ऐसा ही राज्य सम्मेलन भाकपा (माले) लिबरेशन उत्तर प्रदेश का है, जो 19 से 21 सितम्बर 2011 को गोरखपुर में सम्पन्न हुआ।

अन्ना आंदोलन और कामरेडों की दुविधा-सुविधा

अन्ना आंदोलन के भूत ने सत्ता में बैठे लोगों को सताया हो या नहीं, वामपंथ के एक हिस्से को वह खूब सता रहा है. वह वामपंथ के पूरे इतिहास व वर्तमान के गिरेबान में झांककर बोल रहा है कि जैसा अन्ना ने किया वैसा आज तक तुम न कर सके. कि तुम अपनी कमियों से चिपके रहे और देश की जनता की नब्ज को टटोल सकने में आज अक्षम बने रहे. कि यह तुम्हारी ही कमियां हैं जिनके चलते शासक वर्ग और मजबूत होता जा रहा है…