फोर्स लीव से वापस लौटे अजीज बर्नी

सहारा मीडिया में अजीज बर्नी की वापसी हो गई है. वे काफी दिनों से फोर्स लीव पर चल रहे थे. सहारा उर्दू के ग्रुप एडिटर अजीज बर्नी अपनी किताब के कारण विवादों में आए. फोर्स लीव के दौरान ही उन्होंने अपनी गलती का एहसास करते हुए माफी मांगी और उनका माफीनामा राष्ट्रीय सहारा अखबार के पहले पन्ने पर दो कालम में प्रकाशित हुआ. बावजूद इसके, कुछ लोग यह कयास लगा रहे थे कि अजीज बर्नी की सहारा में अब वापसी संभव नहीं है लेकिन आज इस वक्त अजीज बर्नी सहारा मीडिया के नोएडा स्थित कैंपस में अपने सहयोगियों के साथ बैठक कर रहे हैं.

अजीज बर्नी का एक और माफीनामा

: फिर भी कोई गारंटी नहीं कि नौकरी बच ही जाएगी : अजीज बर्नी इन दिनों खबर में हैं. आज जनसत्ता अखबार में भी फ्रंट पेज पर अजीज बर्नी से संबंधित दो कालम की स्टोरी छपी है. इसके पहले कई जगहों पर अजीज बर्नी के खिलाफ खबरें छपती रही हैं. खासकर अपनी किताब को लेकर अजीज बर्नी बुरी तरह फंसे हैं जिसमें उन्होंने मुंबई पर आतंकी हमले में आरएसएस का हाथ होने का शक जताया था. उधर कहने वाले खुद अजीज बर्नी की आतंकी हमले में मिलीभगत बता रहे हैं क्योंकि आतंकी हमले के दिन बर्नी पाकिस्तान में थे.