नामवर ने अज्ञेय को मुक्तिबोध से आगे बताया

: हमारा समय मध्य वर्ग को गोदाम बनाने का युग है- अशोक वाजपेयी : अज्ञेय में दार्शनिक विकलता का चरम रूप ‘असाध्य वीणा’ में है- प्रो. नित्यानंद तिवारी : हिन्दू कालेज में अज्ञेय पर राष्ट्रीय संगोष्ठी : नई दिल्ली. दिल्ली विश्वविद्यालय के हिन्दू कालेज में अज्ञेय की जन्म शताब्दी के अवसर पर विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के सहयोग से ‘आज के प्रश्न और अज्ञेय’ विषयक राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया.