यूपी की मीडिया डरपोक है : मुलायम

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव आज मीडिया से कुछ ज्यादा ही खफा दिखे। बरेली के सेंट्रल जेल के बाहर पत्रकारों से बात करते हुए श्री यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है। अन्याय, अत्याचार और भ्रष्टाचार चरम पर है। फिर भी मीडिया चुप है। मेरा मानना है कि मीडिया डरपोक हैं, और डरपोक नहीं है तो कुछ लेनदेन हो गया है। दिल्ली के कुछ पत्रकारों ने जरूर लिखा है।

म से मुलायम, म से मायावती, क से किताब

”मुलायम और मायावती, दो ऐसे राजनेता हैं जिनके इर्द-गिर्द ही पिछले दो दशकों में उत्तर प्रदेश की राजनीती घूमती रही है. इन दोनों में म अक्षर से थोड़े पुराने किस्म के नाम, ग्रामीण परिवेश के बहुत साधारण घर, राजनीती से पूर्व शिक्षण कार्य जैसी समानता के अलावा यह भी सामान है कि दोनों पिछडों और दलितों की राजनीती से जुड़े रहे हैं, दोनों अपनी-अपनी पार्टी के सुप्रीमो हैं जिनकी पार्टी उनके नाम से चलती है और दोनों सामान्यतया एंटी कांग्रेस माने जाते हैं.” ये बातें एक परिचर्चा में कही गईं.