दैनिक नवज्‍योति, कोटा के कर्मचारी हड़ताल पर, तीन दिन से नहीं छप रहा अखबार

दैनिक नवज्‍योति, कोटा में प्रबंधन के रवैये से नाराज दो दर्जन से ज्‍यादा कर्मचारी हड़ताल पर बैठे हुए हैं. जिसके चलते पिछले तीन दिनों से कोटा में अखबार का प्रकाशन पूरी तरह बंद पड़ा हुआ है. प्रबंधन के समझाने के बावजूद कर्मचारी कुछ भी सुनने को तैयार नहीं हैं. उनका कहना है कि प्रबंधन पहले यह आश्‍वासन दे कि वो उन लोगों को प्रताडि़त करना बंद करेगा. प्रबंधन लगातार स्थिति को नियंत्रित करने की कोशिश कर रहा है परन्‍तु कर्मचारी टस से मस नहीं हो रहे हैं.

नवज्‍योति में समाचार संपादक बने अरविंद अपूर्वा

दैनिक भास्कर, अजमेर के उप संपादक अरविंद अपूर्वा ने दैनिक नवज्योति, कोटा ज्वाइन किया है। ज्वाइन करने के बाद छुट्टी पर गए अपूर्वा होली के बाद नियमित काम पर देखेंगे। राजेंद्र हाड़ा के दैनिक भास्कर छोड़ने के बाद अपूर्वा नागौर डाक संस्करण प्रभारी बने थे। इससे पहले वे सिटी डेस्क पर थे। डाक संस्करणों का कलस्टर बना दिए जाने के बाद वे फिर सिटी डेस्क पर थे।

सुनील माथुर ने नवज्‍योति से तीन दशक पुराना रिश्‍ता तोड़ा

दैनिक नवज्‍योति, कोटा से चीफ रिपोर्टर सुनील माथुर ने अपना तीस साल पुराना रिश्‍ता तोड़ लिया. एक फरवरी को उन्‍होंने प्रबंधन को अपना लिखित इस्‍तीफा सौंप दिया. हालांकि अभी उनका इस्‍तीफा स्‍वीकार नहीं किया गया है, परन्‍तु अब लग नहीं रहा है कि माथुर साहब वापस लौटेंगे. वो पिछले चार-पांच महीनों से प्रबंधन के रवैये से परेशान चल रहे थे.

सिटी एडिटर को क्राइम रिपोर्टर ने किया जलील

: रिपोर्टर विक्रम को क्राइम बीट से हटाया गया : दैनिक नवज्योति, अजमेर के सिटी एडीटर ओम माथुर को उन्हीं के सीनियर क्राइम रिपोर्टर विक्रम चौधरी ने जमकर गालियां दीं और खरी खोटी सुनाई। बीच बाजार में हुई इस घटना के बाद विक्रम का बीट छीन लिया गया है।

दैनिक ‘नवज्योति’ को ट्रेनी जर्नलिस्ट चाहिए

राजस्थान के प्रतिष्ठित समाचार पत्र दैनिक नवज्योति के कोटा संस्करण में प्रशिक्षु पत्रकारों की जरूरत है। इसके लिए समाचार पत्र ने 8 सितंबर के अंक में एक विज्ञापन प्रकाशित किया है। पत्रकारिता में स्नातक या स्नातकोत्तर, अथवा डिप्लोमाधारी, या अन्य विषयों से शिक्षित युवा जिनमें पत्रकारिता के प्रति रूचि है, आवेदन कर सकते हैं। आवेदन का पता है-