तो इस वजह से हारा परवेज-पुष्पेंद्र पैनल!

: ये है प्रेस क्लब आफ इंडिया के नए पदाधिकारियों की अनंतिम-अनधिकृत सूची : प्रेस क्लब आफ इंडिया, दिल्ली के चुनाव नतीजे अधिकृत तौर पर घोषित नहीं किए गए हैं क्योंकि इस पर अदालत ने रोक लगा दी है. लेकिन मतों की गिनती के बात जो तस्वीर बनी है, उससे पता चलता है कि परवेज – पुष्पेंद्र पैनल से केवल दो लोग जीत सके हैं और वो भी मैनेजिंग कमेटी के मेंबर के बतौर. विजयी लोगों की जो लिस्ट भड़ास4मीडिया को प्राप्त हुई है, वह इस प्रकार है-

कोर्ट की छत्रछाया में हुए पीसीआई इलेक्शन

: 1100 से अघिक वोट पड़े : रिजल्ट की घोषणा पर पाबंदी : पत्रकारों का ‘मक्का’ कहे जाने वाले प्रेस क्लब ऑफ इंडिया के चुनाव शनिवार को संपन्न हो गए लेकिन क्लब के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा कि रिजल्ट के लिए माडिया वालों को लंबा इंतजार करना पड़ेगा। वजह, दिल्ली उच्च न्यायालय ने  रिजल्ट की घोषणा पर प्रतिबंध लगा दिया है। इतना ही नहीं न्यायालय ने चुनाव में कथित धांधली की आशंका जताए जाने के मद्देनजर ऑब्जर्वर भी नियुक्त कर दिया है। उन्हीं की देखरेख में शनिवार को क्लब में वोटिंग हुई और आगे की प्रक्रिया भी ऑब्जर्वर की देखरेख में ही संपन्न होगी।

पीसीआई : चुनावी मौसम में आरोप-प्रत्यारोप तेज

: पर्चे बांटकर की गई अपील- अगर ऐसे भ्रष्ट लोगों से प्रेस क्लब को बचाना है तो राम – संदीप – नदीम पैनल को जिताना है : प्रेस क्लब आफ इंडिया के चुनावी मौसम में आरोप-प्रत्यारोप के दौर तेज हो गए हैं. जो लोग विपक्ष में हैं, बदलाव की बाबत चुनाव लड़ रहे हैं, अभी तक काबिज लोगों को हटाना चाहते हैं, उनने दो पेजी एक आरोप पुस्तिका का प्रकाशन कर वितरण करना शुरू कर दिया है. इसमें प्रेस क्लब के सेक्रेट्री जनरल पर कई आरोप जड़े गए हैं और उनसे जवाब की उम्मीद की गई है. यहां हम वो दोनों पेजों को प्रकाशित कर रहे हैं ताकि सवाल ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचे. अगर प्रेस क्लब के वर्तमान पदाधिकारी, जो फिर जीतने के लिए चुनाव लड़ रहे हैं, इन आरोपों का कोई जवाब भेजते हैं तो उसे भी ससम्मान प्रकाशित किया जाएगा. -एडिटर, भड़ास4मीडिया

पीसीआई चुनाव 13 नवंबर को, परवेज ने भेजा पत्र

प्रेस क्लब आफ इंडिया (पीसीआई), दिल्ली के चुनाव घोषित हो चुके हैं. पर्चा दाखिला और नाम वापसी भी हो चुका है. वोट 13 नवंबर को पड़ेंगे और वोटों की गिनती व नतीजे 14 नवंबर को आएंगे. इस बार प्रेस क्लब चुनाव में कोई खास सरगर्मी नहीं दिख रही है. न कोई आरोप प्रत्यारोप का दौर चल रहा है और न ही कोई खींचतान. इस बीच प्रेस क्लब के अध्यक्ष परवेज अहमद ने सभी सदस्यों को एक पत्र भेजकर काफी कुछ बातें कहीं-बताई हैं. चुनाव से संबंधित नोटिस व परवेज का पत्र नीचे प्रकाशित कर रहे हैं. -एडिटर,