जमशेदपुर में भास्कर से 14 लोग जुड़े

: हिंदुस्तान व प्रभात खबर को झटका : दैनिक भास्कर की रांची की लांचिग भले शानदार न हो पाई हो, लेकिन झारखण्ड के अगले पड़ाव में भास्कर इसमें कोई कोताही नहीं बरतना चाहता. इसीलिए स्टाफ के सेलेक्शन में सावधानी बरती जा रही है. जमशेदपुर में भास्कर की लांचिंग में अभी समय है. लेकिन स्टाफ सेलेक्शन का काम जोरशोर से चल रहा है.

कफनचोर जेठमलानी

[caption id="attachment_17616" align="alignleft" width="85"]डा. संतोष मानवडा. संतोष मानव[/caption]: अपन इतनी अंग्रेजी तो जानते ही हैं कि कह सकें – शटअप, मिस्टर जेठमलानी! : छोटा था। चौथी-पांचवीं का स्टूडेंट। पांच-छह किलो का बोझ लादे स्कूल जाता। लौटता। बस्ता पटकता, और भागता। अपने सहपाठियों, दोस्तों की महफिल में शामिल होने। घंटों की बैठक, जिसका कोई एजेंडा नहीं होता था। बस, बतकही-दुनिया भर की बातें। अपन राम ज्ञानी अब भी नहीं हैं। उस समय तो खैर पूरे अज्ञानी थे। ऐसे कि हमारे लिए दुनिया का सबसे अमीर आदमी बिल गेटस या वारेन बफेट, ब्रुनेई का सुल्तान, टाटा, बिड़ला, अंबानी जैसे लोग कतई नहीं थे।