झारखंड के वरिष्ठ पत्रकार सतीशचंद्र नहीं रहे

झारखंड के वयोवृद्ध साहित्यकार तथा पत्रकार सतीशचंद्र इस दुनिया में नहीं रहे. शुक्रवार की शाम लगभग सात बजे उन्होंने अंतिम सांस ली. उनके निधन की खबर जैसे ही फैली, धनबाद कोयलांचल शोक में डूब गया. वाकई सतीश बाबू के निधन से कोयलांचल की पत्रकारिता को अपूरणीय क्षति हुई है और मुझ जैसे अनेक पत्रकारों ने अपना गुरू व अभिभावक खो दिया है. सतीश बाबू ने 1947 में झारखंड की धरती पर कदम रखा था. तब से वह लगातार देश औऱ प्रदेश के विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं से जुड़े रहे.