कहीं फिर मेरे भाई पर मुसीबत तो नहीं आएगी?

आज जब सुबह ऑफिस आया तो सभी समाचार पत्रों को सरसरी निगाह से देखने की आदत के अनुसार ”आज समाज” में फोटो के साथ छपी एक खबर पर नज़र पड़ी. खबर मेरे लिए चौंकाने वाली थी और डराने वाली भी. कारण यह था कि उसमें एक ऐसे व्यक्ति की गिरफ्तारी की खबर छपी थी जिसकी वजह से हमारे पूरे परिवार की इज्जत मर्यादा सबकुछ धूल में मिल गई थी.

गोविंद पंत राजू समेत तीन ने डीएनए से इस्तीफा दिया

[caption id="attachment_14848" align="alignleft"]गोविंद पंत राजूगोविंद पंत राजू[/caption]डेली न्यूज एक्टिविस्ट (डीएनए), लखनऊ के एक्जीक्यूटिव एडिटर गोविंद पंत राजू, पोलिटिकल एडिटर श्रवण शुक्ला और एसोसिएट न्यूज एडिटर रमेश सिंह ने इस्तीफा दे दिया है। ये लोग कहां जा रहे हैं, पता नहीं चल पाया है। सूत्रों का कहना है कि गोविंद पंत राजू ने देशपाल सिंह पंवार के ग्रुप एडिटर बनाए जाने के बाद बदली हुई परिस्थियों के कारण इस्तीफा दिया। उधर, श्रवण शुक्ला ने निजी परेशानियों को कारण बताते हुए डीएनए के साथ कार्य न कर पाने में असमर्थता जताई।

गोविंद पंत राजू, श्रवण और रमेश डीएनए पहुंचे

[caption id="attachment_14848" align="alignleft"]गोविंद पंत राजूगोविंद पंत राजू[/caption]लखनऊ और इलाहाबाद से प्रकाशित और तेवरदार खबरों के लिए मशहूर अखबार डेली न्यूज एक्टिविस्ट (डीएनए) के साथ कई वरिष्ठों ने नई पारी शुरू की है। यूपी टीवी जर्नलिज्म के जाने-माने नाम गोविंद पंत राजू ने बतौर एक्जीक्यूटिव एडिटर डीएनए ज्वाइन किया है। श्रवण शुक्ला ने पोलिटिकल एडिटर के रूप में डीएनए की कमान संभाल ली है। रमेश सिंह एसोसिएट न्यूज एडिटर के रूप में डीएनए के साथ नई पारी शुरू कर चुके हैं। एक्जीक्यूटिव एडिटर के रूप में डीएनए ग्रुप की कमान संभालने वाले गोविंद पंत राजू 11 वर्ष तक आज तक न्यूज चैनल के यूपी और उत्तराखंड के ब्यूरो चीफ रहे।