एसएचओ ने की पत्रकार से अभद्रता, धमकी दी

मैं एक पत्रकार हूं. मैं 3 दिसम्‍बर की रात लगभग नौ बजे कुछ काम से उत्‍तम नगर पुलिस स्‍टेशन गया था. वहां डयूटी ऑफिसर के पीछे एक युवती बैठी हुई थी और बुरी तरह रो रही थी, वहां पर कोई महिला पुलिसकर्मी भी मौजूद नहीं थी. मानवता के नाते मैंने उसके रोने का कारण पूछा तो उसने बताया कि कुछ पुलिसवाले उसे उसके घर से सुबह ही उठा लाये हैं और अब तक रोटी का एक टुकड़ा भी नहीं दिया है.

दिल्‍ली में पत्रकार बना चोरों का शिकार

दिल्‍ली में गाड़ी के शीशे तोड़कर सामान चुराने वाला गिरोह बेखौफ हो गया है. इस गिरोह के शिकार तिलक नगर थाना क्षेत्र में एक पत्रकार बने. चोरों ने उनकी गाड़ी से लैपटॉप, कैमरे, मोबाइल और अन्‍य सामान चुरा लिया. पत्रकार सुमित चौहान ने चोरी की रिपोर्ट दर्ज करा दी है. पुलिस को अभी तक चोरों का कोई सुराग नहीं मिल पाया है.