पांच लाख माह में राडिया के नौकर बने थे बैजल

: रतन और राडिया के नंगे अवतार : प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने सीबीआई को हड़काने और सर्वोच्च न्यायालय के सामने गिड़गिड़ाने के बाद आखिरकार ए राजा और उसकी संदिग्ध सहेली और दलाल नीरा राडिया के घर और कार्यालयों पर छापों की अनुमति दे दी। सीबीआई को मालूम था कि उसे क्या चाहिए और वह उसे मिलता जा रहा है। सबसे ज्यादा मुसीबत में रतन टाटा हैं जो भेद नहीं खुले इसके लिए सर्वोच्च न्यायालय तक अर्जी लगाने चले गए थे कि उनके निजी जीवन के रहस्य सामने नहीं आने चाहिए। आज के छापों ने उन पर भी कोई आवरण नहीं छोड़ा। प्रदीप बैजल दूर संचार नियामक प्राधिकरण- ट्राई के मुखिया थे।