श्रीराम ने सीता से बाल विवाह किया था!

स्‍वतंत्र भारतश्रीराम ने बाल विवाह किया था. उन्‍होंने दो वर्ष कम उम्र में ही शिव धनुष तोड़ सीता से विवाह कर लिया था. वनवास जाते समय उनकी उम्र मात्र दो वर्ष थी. यह हम नहीं कह रहे हैं बल्कि दैनिक स्‍वतंत्र भारत में छपे एक लेख के आधार पर आकलन कर रहे हैं. दैनिक स्‍वतंत्र भारत, लखनऊ के 12 जनवरी के अंक में एक लेख मुख्‍य पृष्‍ठ पर प्रकाशित हुआ है. इसका शीर्षक है ‘ जिधर जवानी मुड़ती है इतिहास उधर…’ इसे लिखा है हनुमान सिंह सुधाकर ने. इस लेख की ऊपर की पंक्तियों में ही बताया गया है कि श्रीराम ने जब रावण का वध किया था तो उनकी आयु सोलह वर्ष थी.

स्‍वतंत्र भारत के समन्‍वय संपादक हनुमान सिंह का इस्‍तीफा

स्‍वतंत्र भारत, लखनऊ के वरिष्‍ठ पत्रकार एवं समन्‍वय संपादक हनुमान सिंह सुधाकर ने इस्‍तीफा दे दिया है. वे लगभग एक दशक से स्‍वतंत्र भारत से जुड़े हुए थे. उन्‍होंने अपने इस्‍तीफा देने का कारण कुछ किताबों के लेखन को बताया है. उनकी एक कविता और दो उपन्‍यास पहले ही प्रकाशित हो चुके हैं. वैसे चर्चा है कि निकट भविष्‍य में वे किसी बड़े प्रोजेक्‍ट से जुड़ने जा रहे हैं.

स्‍वतंत्र भारत की मशीन होगी नीलाम!

स्‍वतंत्र भारत: अर्श से फर्श पर पहुंचा अखबार : एक दौर में अखबार जगत में अपनी अनोखी पहचान रखने वाला आजादी की पहली किरण का साक्षी चर्चित अखबार स्वतंत्र भारत अपने वित्तीय परेशानियों के चलते अब बेहद संकट के दौर में है। जनवरी के प्रथम सप्ताह में पिकप द्वारा रोटरी मशीन की भी नीलामी की चर्चा है। कुल मिलाकर अब देखना यह है कि आजादी का साक्षी स्वतंत्र भारत अखबार अपने सुधी पाठकों के बीच अपनी पहचान बनाये रख पाता है या नहीं।

स्‍वतंत्र भारत से इस्‍तीफा देकर ग्‍यारह पहुंचे जनसंदेश टाइम्‍स

लखनऊ से शीघ्र प्रकाशित होने वाले जनसंदेश टाइम्‍स ने स्‍वतंत्र भारत को जोर का झटका दिया है. स्‍वतंत्र भारत से कई विभागों से ग्‍यारह लोगों ने इस्‍तीफा देकर जनसंदेश टाइम्‍स का दामन थाम लिया है. एडिटोरियल से रिपोर्टर भारत सिंह, नवीन सक्‍सेना, राघवेंद्र सिंह, अतुल सिंह, सलाउद्दीन शेख, संतोष सिंह एवं अमित गुप्‍ता ने जनसंदेश ज्‍वाइन किया है.