भड़ास ने निशंक की छवि धूमिल की!

आदरणीय यशवंत जी, सादर नमस्कार, आपकी चर्चित वेबसाइट भड़ास4मीडिया में मंगलवार 21 सितंबर 2010, 11 बजकर 03 मिनट पर प्रकाशित लेख ”पत्रकार के पीछे पड़ा पत्रकार मुख्यमंत्री” पढ़ा। मन को बड़ी ठेस पहुंची, वो इसलिए कि मेरे मन में आपके प्रति जो सोच बनी थी, वह इस लेख को पढ़कर धूमिल हो उठी। यशवंत जी, आपकी वेबसाइट में प्रकाशित यह लेख उत्तराखण्ड राज्य के मुख्यमंत्री डॉ. रमेष पोखरियाल निशंक को बदनाम करने की एक निंदनीय कोशिश है। मैं हैरत में हूं कि आप जैसे विद्वान और गंभीर पत्रकार ने कैसे यह लेख बिना किसी छानबीन के अपने वेब पेज पर प्रकाशित कर दिया।