एनडीटीवी के रिपोर्टर पर पिस्‍तौल तानने वाले ब्लैकमेलर स्ट्रिंगर को पुलिस ने पकड़ा

 

न्यूज चैनल एनडीटीवी के रिपोर्टर मुकेश सेंगर के अपहरण और हमले की वारदात में उसी चैनल के स्ट्रिंगर नवीन कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोप है कि नवीन ने मुकेश सेंगर पर पिस्तौल तान कर गोली मारने की धमकी दी थी और मारपीट भी की थी।

वारदात मंगलवार की है जब सुबह नजफगढ़ के किसी प्रॉपर्टी डीलर ने एक एनडीटीवी के दफ्तर में फोन कर बताया कि इस इलाके में उनका स्ट्रिंगर नवीन कुमार उसका स्टिंग ऑपरेशन कर न्यूज में चलाने की धमकी देकर छह लाख रुपये की डिमांड कर रहा है। इस आरोप की जांच के लिए एनडीटीवी ने अपने रिपोर्टर मुकेश सेंगर को एक कैमरा युनिट के साथ नजफगढ़ भेजा। 

मुकेश ने नजफगढ़ के प्रेम नगर पहुंचकर वहां प्रॉपर्टी डीलर से बात की। डीलर ने बताया कि नवीन उसे ब्लैकमेल कर रकम की डिमांड कर रहा है। उन्होंने अपने स्ट्रिंगर नवीन को फोन किया तो उसने उन्हें गोपाल नगर स्थित एक प्लॉट पर बुला लिया। वहां जब वे डीलर के आरोप के बारे में बात कर रहे थे तो नवीन ने अपशब्द बोलते हुए मुकेश पर देसी पिस्तौल तान कर गोली मारने की धमकी दी। इतना ही नहीं, उसने मुकेश को पलॉट पर बने मकान में बंद कर उन  भी कर दिया।
 
आनन-फानन में कैमरामैन शशिकांत ने ऑफिस खबर भेजा। रिपोर्टर मुकेश सेंगर के बुलावे पर स्थानीय पुलिस आई भी तो वो स्ट्रिंगर के ही प्रभाव में ज्यादा दिखी। एनडीटीवी ने मामले की गंभीरता को समझते हुए तबतक अपने एक दूसरे रिपोर्टर आशीष भार्गव को वहां भेज दिया। चैनल से अडिशनल पुलिस कमिश्नर अनिल ओझा को फोन पर संपर्क किया गया और वारदात के बारे में बताया गया। तब जाकर पुलिस हरकत में आई और नवीन पर कोई कार्रवाई हो पाई। एनडीटीवी के इनपुट एडीटर मनोरंजन भारती ने बताया कि वे भी इस घटना से हैरान हैं और जल्दी ही दागी छवि वाले स्ट्रिंगरों को बाहर का रास्ता दिखाने का अभियान चलाएंगे।
 
ग़ौरतलब है कि एनडीटीवी अपनी साफ़-सुथरी छवि के प्रति बेहद संज़ीदा रहता है और कुछ साल पहले ऐसे ही ब्लैकमेलिंग के आरोप लगने पर वरिष्ठ मीडियाकर्मी उदयचंद्र सिंह को भी निकाल बाहर किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *