कालाबाजारियों की सबसे बड़ी संरक्षक भारतीय जनता पार्टी है

Yashwant Singh : कालाबाजारियों की सबसे बड़ी संरक्षक भारतीय जनता पार्टी है…. दिल्ली में सत्ताधारी कांग्रेस वाले डर के मारे कालाबाजारियों पर छापे नहीं डाल रहे क्योंकि चुनाव का वक्त है, कालाबाजारियों के बहाने पूरे व्यापारियों के वोट को भुना लेगी भाजपा. यही वजह है कि शीला दीक्षित कालाबाजारीजी, दलालजी और आढ़तीजी लोगों से हाथ जोड़कर विनती कर रही हैं कि हे महानुभावों, जिस प्याज को आप दबाए बैठे हैं, उसे अब तो रिलीज कर दें… काहें मिट्टी पलीद करा रहे हैं…

उधर, बीजेपी वाले मौके का पूरा फायदा उठाते हुए अपने मित्र कालाबाजारियों, आढ़तियों, दलालों आदि को सक्रिय कर चुके हैं कि जितना दबा सकते हो दबा लो, ताकि कांग्रेस की बैंड बजे… बीजेपी को कहा ही जाता है कि वो व्यापारियों, बनियों, सनातन धनाढ्यों, शहरी मध्य वर्ग और कट्टर परंपरावादी व बेअक्ल यथास्थितिवादी लोगों की पार्टी है… इस कांग्रेसी और बीजेपी राजनीति के चक्कर में पिस रहे हैं हम आप सब… दुर्भाग्य ये कि कम्युनिस्टों, प्रगतिशीलों का कोई नामलेवा नहीं क्योंकि इन लोगों ने भी कांग्रेस परस्त राजनीति के चक्कर में, देश के मन-मिजाज को न समझ पाने की गल्ती में अपनी जमीन गंवा चुके हैं… ऐसे में विकल्प बहुत सीमित हैं..

जातिवादी सपा और जातिवादी बसपा से किसी को कोई उम्मीद नहीं… ऐसे में फिलहाल तो आम आदमी पार्टी ही एक आशा की किरण है… इन्हें एक बार मौका दिया जाना चाहिए… दिल्ली प्रदेश की बात करें तो यहां केजरीवाल के पक्ष में अंदरुनी किस्म की लहर है… मैं जब जब जहां जहां जाता हूं, वहां चुनाव और वोट के बारे में एक बार बात कर ही लेता हूं… एक डाक्टर के यहां आंख टेस्ट कराने गया था, उनका साफ कहना था कि एक बार केजरीवाल को आजमाया जाना चाहिए, इसलिए उनका वोट इस बार आप को… एक आटो ड्राइवर ने बहुत साफ कहा कि केजरीवाल को इस बार वोट देना जरूरी है क्योंकि भाजपा और कांग्रेस दिल्ली में मिलजुल कर चोरी, भ्रष्टाचार, महंगाई, दुख पैदा कर रहे हैं, इसे बढ़ा रहे हैं.. आस-पड़ोस के लोगों से जब कभी बात होती है तो सबको केजरीवाल और आप जपते देखता हूं… मैं कह सकता हूं कि मीडिया के आकलन दिल्ली को लेकर झूठे साबित होंगे और आम आदमी पार्टी पूर्ण बहुमत से सरकार बनाने में सफल होगी…

भड़ास के एडिटर यशवंत सिंह के फेसबुक वॉल से.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *