कोलकाता के मीडिया में एक सगाई और शादी के लड्डू की चर्चा

: कानाफूसी : कोलकाता और पटना के ठंड में इन दिनों गर्माहट है. क्‍योंकि जनवरी में बंगाल और का मेल बंधन कोलकाता में होने जा रहा है. चूंकि दौर शादी विवाह का है इसलिए चर्चा की गरमाहट शादी विवाह पर ही है. लोग एक दूसरे से पूछ रहे हैं कि तुमको निमंत्रण कार्ड मिला क्‍या? पटना के लोग कोलकाता बारात लेकर आने की तैयारी में पूरे जोर शोर से लगे हैं. कुछ लोग अपना सूट टाई मोजा भी दुरस्‍त कर रहे हैं. लेकिन कोलकाता में मातमी सन्‍नाटा पसरा हुआ है. आप भी सोच रहे हैं कि खबर देने की जगह ये क्‍या बकवास कर रहे हैं.

तो भाइयों हम आपको बता दें कि हम हाल ही में ट्रांसफर होकर कोलकाता आए, जुम्‍मा जुम्‍मा कुछ दिन ही हुआ. और इस खबर में मेरी भी उत्‍सुकता थी कि कोलकाता की बहुचर्चित मीडिया गर्ल की शादी में हिस्‍सा लेने का मौका मिलेगा, लेकिन जिसकी शादी हो रही है वो भी अपनी शादी की खबर को अपने करीबियों से छुपाने में लगी हुई हैं. जबकि हफ्ते भर की छुट्टी लेकर सगाई भी कर आईं. दुल्हे राजा पटना में अपने दोस्‍तों और दिल्ली दफ्तर में आला अफसरों को अपनी शादी की दुहाई देकर नौकरी भी बचा चुके हैं (असम दौरे में बिल में घालमेल का मामला है). अब आते हैं मुद्दे पर क्‍यूं  मोहतरमा अपनी शादी छुपाना चाहती हैं तो भाई साहब जब इस बात का खुलासा उनके दफ्तर के लोगों ने किया और ये राज खोला कि वो शादी कर रही हैं एक बार फिर, तो जिज्ञासा स्‍वभाविक है कि कोलकाता की रिपोर्टरनी अपनी शादी की खबर छुपाने का नाकाम प्रयास कर रही हैं. और मेरे अंदर का पत्रकार जाग उठा. और अब परत दर परत खुलने लगी तो पता चला कि कोलकाता की ये हसीना शादी करने की शौकिन हैं और अब तक कई शादियां कर चुकी हैं.

इनके पूर्व पतियों की कतार में हिंदी के वरिष्ठ पत्रकार हैं, तो अंग्रेजी चैनल में बंगाल के क्षेत्रीय चैनल के कैमरामैन भी पूर्व पति के रूप में शोभा बढ़ा रहे हैं. हसीना के शिकार लोगों की खबर की तलाश में जब हम निकले तो मुझे कोलकाता का शायद ही कोई मीडिया हाउस मिला जो इनकी चर्चा से अछूता हो, हर जगह इनकी याद में रोने वाले मुझे मिले. राष्ट्रीय अंग्रेजी चैनल का कैमरामैन तो इनके चक्‍कर में अपनी पत्‍नी को तलाक देकर जेल की हवा भी खा चुका है. उसके साथ शादी कर राजडांगा स्‍कूल मेन रोड में घर बसाने के बाद श्रीमती जी शारीरिक रूप से उसको कमजोर करार देते हुए शादी भी तोड़ चुकी हैं. उनके दफ्तर का ड्राइवर तक इसका गवाह है. कैमरामैन जब अपने घर भोज किया था तब श्रीमती रिपोर्टरनी की भूमिका पत्नी वाली ही थी. इस बात को कोलकाता में उनके सहयोगी स्‍वीकार करते हैं. रिपोर्टरनी से अपनी शादी को बचाने की मेहनत कर ये भाई नाकाम हो चुका पर ये नहीं मानीं, जबकि वो इनको पत्‍नी मानते रहे. लेकिन शादी- शुदा कुंवारी रिपोर्टरनी को दया नहीं आई सो इनकी याद में महीनों पागल होकर घूमने के बाद घर वालों के दबाव में पति उर्फ कैमरामैन ने अब शादी कर ली है और वो बंदा एक बच्चे का बाप बन अपना जीवन गुजार रहा है. हसीना के चुंगल में फंसे लोगों को सावधान करना ही उसका मकसद बन गया है. जबकि बांग्ला के लीडिंग चैनल का कैमरामैन अपनी इस सर्वश्रेष्‍ठ चैनल की सर्वश्रेष्‍ठ रिपोर्टरनी के लिए घर से खाना बनाकर लाता और घंटों इंततार करने के बाद इनको खिलाकर सुख पाता था.

अपने अलीपुर के घर में (जहां रिपोर्टरनी पेइंग गेस्‍ट रहती थी) महीनों रंगरेलियां करने के बाद उसको भी अपने दिल से बाहर का रास्‍ता दिखा दी. श्रीमान इनके चक्‍कर में अपनी पड़ोसी विधवा भाभी जो इमकी प्रेमिका हुआ करती थी उससे भी हाथ धो बैठा है. बेचारा अब गाते फिर रहा है कि अपनी तो जैसे तैसे कट जाएगी ऐसै तैसे आपका का क्‍या होगा जनाबे आली. उसी से मुझे पता चला कि हिंदी के वरिष्‍ठ पत्रकार भी इसके प्‍यार में गोता लगा रहे हैं.  अपनी जिज्ञासा को शांत करने के लिए अपने साथियों के साथ हम आधमके उनके दफ्तर और उनके बास को साथ लेकर पहुंच गए अंग्रेजी चैनल के कैमरामैन के दफ्तर. कैमरामैन ने जब खुलासा किया कि पत्रकार महोदय भी रिपोर्टरनी से उनसे पहले शादी कर चुके हैं तो महोदय की बोलती बंद हो गई. तब मुझे पता चला कि आखिर दुल्हे राजा खम ठोंक कर अपनी शादी का एलान कर रहे हैं और दुल्हिनया तो शरमा रही है. जबिक दुल्हे राजा प्रगतिशील विचार के हैं. उनको इस बात से शायद ही फर्क पडेगा. लेकिन दुल्हन के डर पर हर कोई  हैरान है कि एक ही वक्‍त पर कई-कई मर्द को लट्टू करनेवाली अपने दफ्तर के स्‍टूडियो में मीटिंग कर अपनी शादी की खबर से इनकार करती है और वही जब मंडप में दुल्हन के रूप में हाजिर होगी तो वो क्‍या करेंगे. हालांकि रिपोर्टरनी कोलकाता से प्रसारित एक हिंदी चैनल के मालिक की साली भी हैं और वो भी बेचारे परेशान हैं कि लोग उनसे मिठाई मांग रहे हैं और दुल्हन अभी तक उनको बताई ही नहीं. जो भी हो कोलकाता के हर मीडिया आफिस में सगाई और शादी के लड्डू का इंतजार है. हालांकि इंतजार तो बंगाल के आईपीएस और आईएएस लाबी में भी बहुतों को है. क्‍योंकि इनका सुख लेने वालों की जमात में वो भी शामिल हैं. और कोलकाता के मीडिया हाउस में यही चर्चा है कि उनको शादी का लड्डू मिलेगा या नहीं जबकि पटना में लोगबाग शादी में शामिल होने के लिए कोलकाता आने की तैयारी में जुटे हुए हैं.

एक पत्रकार द्वारा भेजा गया पत्र.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *