गए थे पत्रकारों को सम्‍मानित करने, खुद के कदम लड़खड़ा गए

शाहजहांपुर : उप्र श्रमजीवी पत्रकार यूनियन द्वारा हिन्दी दिवस पर आयोजित एक कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के सलाहकार राज्यमंत्री राजनैतिक पेंशन विभाग हनुमान प्रसाद सिंह को मुख्य अतिथि बनाया गया। मंत्री महोदय 13 सितम्बर को ही शाहजहांपुर आ गए यूनियन के पदाधिकारियों ने उनका बड़ी गर्म जोशी से स्वागत किया। 14 सितम्बर को शहर के एक होटल में हिन्दी दिवस पर गोष्ठी और साहित्यकारों को सम्मानित करने के बाद यूनियन के पदाधिकारियों द्वारा पत्रकारों के लिए भारी मात्रा में लालपरी का इंतजाम किया गया था। पत्रकार लालपरी की बहती नदी में पत्रकार गोते लगा रहे थे।

पत्रकारों को लालपरी की नदी में गोते लगाते देख मंत्री जी भी अपने आप को रोक नहीं पाए और वह भी बहती नदी में डुबकी लगाने लगे। कमजोर कदकाठी के दर्जाप्राप्‍त राज्‍यमंत्री जी ने कुछ ज्यादा ही लालपरी की नदी में डूबकी लगा ली, जिस से उनके पैर लडखड़ाने लगे। जब मंत्री जी होटल के रूम में जा हरे थे तो लालपरी ने अपना सुरूर दिखा दिया। मंत्री जी लड़खड़ा कर धड़ाम से गिर गए। गिरने से मंत्री जी के सिर में गहरा घाव हो गया और खून बहने लगा। मंत्री जी को कार्यक्रम के आयोजक तुरंत आनन फानन में जिला अस्पताल ले गए, जहां डाक्ट्ररों ने मंत्री जी की मरहम पट्टी की।  

मंत्रियों और वरिष्ठ नेताओं को हम सामाजिक साहितियक कार्यक्रमों में इसलिए बुलाते हैं कि वह मार्गदर्शन करेंगे। लेकिन यहां तो एक मंत्री जी इतने टल्ली हो गए कि लड़खड़ा कर गिर गए। उनका सिर फूट गया। बहाना यह बनाया गया कि चप्पल टूट जाने के कारण मंत्री जी गिर पड़े। अब सैकड़ों की तादात में जो लोग वहां मौजूद थे उन्हें तो बेवकूफ बनाना मुशिकल था। एक टीवी चैनल वाले ने अपना कैमरा खोला तो मंत्री जी के लोगों ने उसका कैमरा छीनने का प्रयास किया। बेचारा पत्रकार खबर बनाता या अपनी जान बचाता।

एक पत्रकार द्वारा भेजा गया पत्र.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *