दारोगा ने पत्रकार को अखबार से निकलवाया!

झांसी में पुलिस और पत्रकारों की बीच चल रहे विवाद के बीच खबर है कि पत्रकारों का साथ देने वाले एक क्राइम रिपोर्टर को प्रभारी दारोगा ने अखबार से निकलवा दिया. यह अखबार जमीन का धंधा करने वाला एक व्‍यक्ति निकालता है, लिहाजा दारोगा ने उसे फंसाने की धमकी देते हुए रिपोर्टर को निकलवा दिया. क्राइम रिपोर्टर इस घटना से बुरी तरह दुखी है. इस घटना से मीडिया की औकात भी पता चल जाती है.

गौरतलब है कि थाना शहर कोतवाली प्रभारी दरोगा जेपी यादव द्वारा गत दिनों एक महिला के आरोप पर आजतक चैनल के रिपोर्टटर अमित श्रीवास्‍तव पर बलात्‍कार के प्रयास का मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया था. अमित को फर्जी मामले में फंसाकर जेल भेजे जाने से बौखलाए पत्रकार साथी दारोगा जेपी यादव को हटाने की मांग को लेकर धरने पर बैठे थे. यहां दो कथित पत्रकारों के बवाल के बाद धरना-अनशन खतम हो गया. आरोप लगाया कि योजनाबद्ध तरीके से ही जेपी यादव ने इन दोनों पत्रकारों को भेजकर बवाल कराया तथा अपने खिलाफ चल रहे प्रदर्शन को खतम करवा दिया. इस मामले में पत्रकार हाशमी को भी जेल भेज दिया गया.

बताया जा रहा है कि यहीं से प्रकाशित एक अखबार में क्राइम रिपोर्टर का काम करने वाले राकेश वर्मा (बदला नाम) भी धरने में बढ़चढ़कर भाग लिया. बताया जा रहा है कि राकेश समेत कई पत्रकारों पर पुलिस ने दबाव बनाकर अनशन में भाग ना लेने की सलाह दी, लेकिन ये पत्रकार नहीं माने. बताया जा रहा है कि इसके बाद दारोगा ने अखबार के मालिक से संपर्क किया तथा राकेश को हटाने का फरमान सुनाया. हालांकि अपुष्‍ट आरोप यह भी लगाया जा रहा है कि दारोगा ने राकेश को न हटाए जाने पर अखबार मालिक के कई जमीनों की पोल खोलने की धमकी भी दी. बताया जा रहा है कि इसके बाद राकेश को अखबार से हटा दिया गया. पीडि़त पत्रकार इस घटना से बहुत ही आहत है. वैसे आरोप है कि यह सारी कार्रवाई उनके ही अखबार के दो लोगों ने मिलकर करवाई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *