देवबंद में उपद्रवियों ने मीडिया को बनाया निशाना, मारपीट के बाद कैमरा तोड़ा गया

सहारनपुर। सिपाही के डंडे से चोट लगने के बाद एक फल विक्रेता की मौत ने मंगलवार को देवबंद में अराजक माहौल पैदा कर दिया। यहां जमकर उपद्रव हुआ। गुस्साई भीड़ ने एक दर्जन वाहनों को आग के हवाले कर दिया। दुकानों में जमकर तोड़फोड़ की। उपद्रवियों ने मीडियाकर्मियों को भी नहीं बख्‍शा। कई मीडियाकर्मियों को पीटा गया, उन पथराव किया गया, उनके कैमरे तोड़ दिए गए। कई मीडियाकर्मी घायल हुए हैं। इस मामले में पांच लोगों को अरेस्‍ट किया गया है, अन्‍य उपद्रवियों की तलाश की जा रही है।

हालत काबू में करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज और हवाई फायरिंग करनी पड़ी। जवाब में भीड़ ने भी पुलिस पर पथराव कर शुरू कर दिया। इससे बाला सुंदरी मेले में भगदड़ मच गई। उपद्रवियों ने डाक बंगले को भी आग के हवाले कर दिया। बवाल में डीएसपी, एसओ देवबंद समेत दो दर्जन से अधिक लोग चोटिल हो गए। देर रात धारा 144 लगाने के साथ ही मेरठ, मुजफ्फरनगर, गाजियाबाद, बुलंदशहर समेत कई जिलों के साथ ही कई कंपनी पीएसी भी तलब कर ली गई।

मोहल्ला नेचलगढ़ निवासी अफजाल (40) नगर के एमबीडी चौक पर फलों की रेहड़ी लगाता थे। परिजनों का आरोप है कि शाम सात बजे एक सिपाही ने रेहड़ी हटाने के लिए उसे डंडा मारा, जिससे चलते उसकी मौत हुई गई। इस पर देवबंद में आक्रोश फैल गया। आक्रोशित परिजनों ने स्थानीय लोगों ने साथ मिलकर शव को एमबीडी चौक पर रखकर जाम लगा दिया। गुस्साए लोग शव को उठाकर हाइवे पर ले आए। आलाधिकारियों ने ने लोगों को समझाने का प्रयास किया तो गुस्साई भीड़ ने पुलिस पर पथराव कर पेट्रोलिंग कार में आग लगा दी। एक दर्जन से अधिक वाहन को आग के हवाले कर दिया गया। दर्जनों दुकानों में तोड़फोड़ की गई। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *