‘दैनिक जागरण’ का कमाल, स्थानांतरित अधिकारी हुए बहाल

‘दैनिक भाष्कर’ के पटना से प्रकाशित होने की आहट के बाद पटना से प्रकाशित होने वाले तमाम हिन्दी अखबारों में प्रतिस्पर्धा की होड़ और समाचारों पर पैनी नजर रखने के दावे किए जा रहे हैं। यह पैनी नजर कैसी है इसका उदाहरण दिखा पटना से प्रकाशित ‘दैनिक जागरण’ के शुक्रवार को प्रकाशित अंक के 11वें नंबर पृष्ठ पर। ‘नक्सलियों का नेटवर्क तोड़ेगी पुलिस’ शीर्षक समाचार में इस अखबार ने एक ऐसे आईपीएस अधिकारी को मगध रेंज का डीआईजी और उन्हें लगातार घटनास्थल पर कैंप करने की बात लिखी है जिस अधिकारी का छह माह पूर्व ही तबादला हो चुका है। 
 
‘दैनिक जागरण’ ने लिखा है कि ‘मगध रेंज के डीआईजी नैयर हसनैन खान घटना स्थल पर लगातार कैंप कर रहे हैं। जबकि नैयर हसनैन खान का तबादला बीते जुलाई माह में हो गया और वो जुलाई में ही केन्द्रीय प्रतिनियुक्ति के लिए विरमित कर दिए गए थे। वर्तमान में वह एसएसबी में तैनात हैं। उनकी जगह पूर्णिया के डीआईजी बच्चू सिंह मीणा को मगध रेंज का नया डीआईजी बनाया गया। पर यह अनुभहीन और अल्पज्ञान पत्रकारिता का ही कमाल है कि छह माह पूर्व स्थानांतरित अधिकारी को फिर से वहां का डीआईजी घोषित कर दिया। 
गौरतलब है कि बिहार के औरंगाबाद जिले के नवीनगर थाना अंतर्गत टंडवा रोड में बीते मंगलवार को नक्सलियों ने बारुदी सुरंग विस्फोट कर आठ पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी थी। इस घटना के बाद से राज्य के आला पुलिस अधिकारी वहां कैंप कर रहें हैं। 
 
पटना से एक पत्रकार की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *