दैनिक जागरण वाले कल खंडन छापेंगे और जिसे मृतक बताया उसके दीर्घायु की कामना करेंगे

 जी हां, इस तरह के घनघोर अपराध जागरण वाले करते रहते हैं पर इनकी सेहत पर कोई असर नहीं पड़ता क्योंकि इनकी चमड़ी बहुत मोटी है, पैसे का अंबार है, सत्ता में सिर पैर जोड़कर सरकार हैं… सो, इनकी अराजकता कायम है, अराजकता जारी है… बरेली से सूचना है कि दैनिक जागरण ने एक जिंदा आदमी को मार दिया. जब परिजन आपत्ति करने जागरण आफिस पहुंचे तो वहां संपादक प्रबंधक ने कल खंडन छापने और दीर्घायु कामना प्रकाशित करने की बात कह कर सबको संतुष्ट करने की कोशिश की.

पीलीभीत में कल बस दुर्घटना हुई. सात लोगों की मौत हुई और कई घायल हुए. सबने सही खबर छापी लेकिन दैनिक जागरण ने एक घायल को भी मरा घोषित करते हुए मरने वालों की संख्या आठ प्रकाशित कर दी. घायल के परिजनों ने दैनिक जागरण आफिस पहुंचकर इस तरह की घटिया हरकत पर और जिंदा आदमी को मरा बताने वाली खबर पर सख्त आपत्ति की. परिजनों के प्रबल विरोध से जागरण वालों के हाथ पांव फूल गए.

सीजीएम एएन सिंह ने माफी मांगी और कहा कि कल खंडन छापेंगे हम लोग. जिसको आज मरा बताया है, उसकी दीर्घायु की कामना करेंगे. तरह तरह से समझाए जाने के बाद परिजन वहां से लौट आए और अब कल के अखबार की प्रतीक्षा कर रहे हैं. उधर, घायल को मरा पढ़ने के बाद घायल के परिचित उसके घर शोक संवेदना व्यक्त करने पहुंच रहे हैं. पर जब उन्हें हकीकत बताया जा रहा है तो वे जागरण को कोस रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *