न्यूज चैनल के सम्पादक के कहने पर दिया आसाराम के खिलाफ बयान: भोलानंद

एक राष्ट्रीय टीवी चैनल में आसाराम के जम्मू आश्रम में तीन बच्चों के कंकाल दफन होने का दावा करने वाला भोलानंद पुलिस के सामने अपने बयान से पलट गया. उसने चैनल के सम्पादक और रिपोर्टर पर ही उसे बयान देने के लिए उकसाने का आरोप लगाया है. भोलानंद ने पुलिस रिमांड में दिये बयान में कहा है कि उसे आश्रम मे कंकाल की कोई जानकारी नहीं है. चैनल के संपादक और रिपोर्टर ने उन्हें डायरी लिखकर दी थी कि ये बयान दे दो तो तुम मशहूर हो जाओगे. मैने बहस के बीच तैश में आकर ये बयान दे दिया जबकि इस बयान में कोई सच्चाई नहीं है. अदालत ने इस मामले में पुलिस को जांच कर सच्चाई पता लगाने का आदेश दिया है.
 
भोलानंद ने जम्मू पुलिस के समक्ष बृहस्पतिवार को आत्मसमर्पण कर दिया था. भोलानंद पर जम्मू के भगवती नगर में रहने वाले युवक विक्रांत शर्मा उर्फ विक्की ने आश्रम में कंकाल रखने के लिए उसे रिश्वत की पेशकश का आरोप लगाया था. उसने एसएसपी और जज के सामने अपनी और भोलानंद की बातचीत की फोन रिकार्डिंग की सीडी पेश की थी. इस रिकार्डिंग में भोलानंद ने विक्की से कब्र से कंकाल निकालकर उसे आश्रम में दफनाने के लिए मोटी रकम देने की पेशकश की है. उस समय भोलानंद ने कहा था कि वह अपने ऊपर लगे आरोपों पर सफाई देने के लिए समर्पण कर रहा है और उसने पहले जो कहा वह सच है.
 
पुलिस का कहना है कि भोलानंद बार-बार बयान बदलकर पुलिस को गुमराह करने की कोशिश कर रहा है. उसके कई बार बयान बदलने की वजह से उस पर इतनी जल्दी यकीन नहीं किया जा सकता. वह न्यूज चैनल के सम्पादक के खिलाफ भी कोई सबूत नहीं पेश कर सका है. पुलिस का कहना है कि अभी जांच जारी है. शनिवार को उसकी पुलिस रिमांड खत्म होने पर पुलिस उसे फिर कोर्ट में पेशकर रिमांड पर लेने का प्रयास करेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *