पत्रकारों को बंधक बनाकर मारपीट करने वाले नटवर से लाल बत्‍ती छिनी, पार्टी से भी निकाले गए

: पुलिस ने किया गिरफ्तार : राज्‍यमंत्री दर्जा प्राप्‍त  उत्तर प्रदेश खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के उपाध्यक्ष नटवर गोयल की लालबत्‍ती छीन गई. मीडियाकर्मियों के साथ की गई दबंगई उन्‍हीं पर भारी पड़ गई. मीडियाकर्मियों को बंधक बनाने तथा मारपीट करने की घटना को गंभीरता से लेते हुए मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने कुछ घंटों के ही भीतर उन्‍हें बर्खास्‍त कर दिया. गोयल को समाजवादी पार्टी से भी निकाल दिया गया है. इसके पहले पुलिस ने मीडियाकर्मियों का दबाव देखते हुए नटवर को कैसरबाग थाने में भी बिठाया था. बाद में उन्‍हें गिरफ्तार कर लिया गया.

 
नटवरलाल जी लखनऊ के लालबाग में एक जमीन अवैध कब्जा कर वहां मकान बनवा रहे थे. इसकी भनक लगने पर हिंदुस्तान अखबार के फोटोग्राफर  आशुतोष गुप्‍ता मौके पर पहुंचे थे जिनके साथ नटवर और उनके आदमियों ने उन्‍हें बंधक बनाया तथा मारपीट की. इस घटना की सूचना मिलने पर पत्रकार आक्रोशित हो गए. उन्‍होंने कैसरबाग थाने में शिकायत भी दर्ज कराई. पूरे मामले की जानकारी होते ही सीएम अखिलेश यादव ने नटवर को बर्खास्‍त करने के साथ पार्टी से भी निष्‍कासित कर दिया.  
 
इस सख्त कदम के साथ सपा ने संदेश दिया है कि वह सरकार की छवि धूमिल करने वालों को नहीं बख्‍शेगी नहीं. कुछ दिन पहले ही सीएमओ से विवाद करने वाले राज्यमंत्री विनोद सिंह उर्फ पंडित सिंह को भी  अपनी लाल बत्‍ती गंवानी पड़ी थी. सपा प्रदेश प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने नटवर गोयल को पार्टी से निकाले जाने और उप्र खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड के उपाध्यक्ष पद से बर्खास्त करने की वजह उनका अनुशासनहीन आचरण बताया तथा कहा सरकार की छवि धूमिल करने वाले लोगों को बख्‍शा नहीं जाएगा. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *