पाकिस्‍तान के न्‍यूज चैनलों की हेडलाइंस से हट गया कसाब

 

इस्लामाबाद। भारत में कसाब को फांसी मिलने के कई घंटों बाद यह खबर पाकिस्तान के न्यूज चैनलों की हेडलाइंस से हट गई। इसकी जगह गाजा में चल रहे घटनाक्रम और घरेलू घटनाक्रमों ने ले लिया। हालांकि सुबह पाकिस्तान के सरकारी रेडियो चैनल और जिओ न्यूज जैसे प्राइवेट न्यूज़ चैनलों पर कसाब की फांसी पहली खबर थी, लेकिन बाद में वह गायब हो गई।
 
मुंबई में वर्ष 2008 में हुए आतंकवादी हमलों के दोषी अजमल कसाब की फांसी के बारे में खबरें देते वक्त न्यूज चैनलों ने काफी सावधानी बरती। ज्यादातर न्यूज चैनलों, वेबसाइटों ने इस घटना पर बिना किसी टिप्पणी और विचार के खबरें दीं। कसाब का पाकिस्तानी होना शुरू से ही संवेदनशील मुद्दा रहा है और पूरे मुकदमे की सुनवाई के दौरान या फिर इससे जुड़ी घटनाओं की रिपोर्टिंग में पाकिस्तानी मीडिया ने काफी संयम दिखाया है।
 
द फ्राइडे टाइम्स के संपादक रजा रूमी का कहना है, 'एक सामान्य धारणा थी कि अफजल गुरू की तरह, कसाब को भी फांसी नहीं दी जाएगी, लेकिन इस घटना ने वास्तव में पाकिस्तान को झटका दिया है। ज्यादातर पाकिस्तानियों ने मुंबई हमलों की निंदा की है और सबूतों को देखते हुए कोई भी फांसी के खिलाफ नहीं बोलेगा। हालांकि सबसे बड़ा सवाल अभी भी यही है कि दोनों पक्ष आतकंवाद से कैसे निपटते हैं।' (भाषा)

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *