महराजगंज के युवक ने राजस्थान में रेप के बाद की हत्या

राजस्थान के राजसमंद जिले में महराजगंज के घुघली थाना क्षेत्र के 32 वर्षीय युवक मनोज प्रताप सिंह की दरिन्दगी से पूरा प्रदेश हिल गया है। युवक ने एक मंद वुद्धि लड़की से रेप के वाद सबूत मिटाने के लिये ईट से कुचल-कुचल कर हत्या कर दी। परिवार जनों के संदेह पर पुलिस ने मनोज से पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया। महराजगंज में रहने वाले आरोपित के पिता बेटे के कृत्य से सदमें हैं। उन्होने कहा कि फॉसी हो या उम्र कैद, बेटे की पैरवी नहीं करूंगा। राजस्थान के राजसमंद जिले में 8 वर्षीय वच्ची से रेप का अरोपित मनोज प्रताप सिंह राजस्थान के राजसमंद जिले में मार्बल का कार्य करता था।

गुरूवार को वहॉ काकरोली थाना क्षेत्र में सब्जी वेचने वाले की 8 वर्षीय बेटी पुष्पा (काल्पनिक नाम) को चाकलेट और कुरकुरे देने के बहाने सुनसान जगह ले गया। वच्ची से दुष्कर्म के बाद युवक ने सबूत मिटाने के लिये ईट से कुचल-कुचल कर हत्या कर दी। दरिन्दगी का इन्तहा करते हुये वहसी युवक ने किशोरी को अपने जैकेट में छुपाया और पास ही पुलिया के नीचे फेंककर भाग गया। घटना शाम 6 से 10 बजे बीच की है। वच्ची के न मिलने पर परिवारजनों ने मनोज पर संदेह जताते हुये कार्यवाही की मॉग की। पुलिस की पूछताछ में मनोज ने जुर्म कबूल कर लिया।

मामला फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने की सिफारिश

पुष्पा से दुष्कर्म और हत्या के आरोपी मनोज प्रताप सिंह की निशानदेही पर वच्ची का शव बरामद कर लिया गया है। राजसमंद के कलेक्टर प्रीतम बी ने स्थानीय विधायक व सभापति के नेतृत्व में लोगों के गुस्से को देखते हुये तत्काल मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने की सिफारिश गृह मंत्रालय को भेज दिया है। राजसमंद के एस.पी. राहुल काटोकी का कहना है कि अरोपी की निशानदेही पर ही पुष्पा का शव बरामद किया गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में 20 से अधिक घाव के निशान हैं।

बेटे की पैरवी करने नहीं जाउंगा

महराजगंज के घुघली थाना क्षेत्र के एक गांव में किसानी करने वाले अरोपी के पिता ने भडा़स4मीडिया से बातचीत में बेटे के कृत्य पर बड़ा अफसोस जताया। उनका कहना है कि क्या हुआ, कैसे हुआ, उन्हें कुछ नहीं पता है। यदि आरोप सही है तो उसे फॉसी हो जानी चाहिए। उन्होंने बताया कि शुक्रवार को राजस्थान से बेटे की गिरफ्तारी का संदेश ज्ञानेंद्र त्रिपाठीआया था। तभी से पूरा परिवार सदमें में है। बेटे ने परिवार की इज्जत को तार-तार कर दिया है। कुछ भी हो जाय, हम राजस्थान कोर्ट में पैरवी करने नहीं जाएंगे। अरोपी युवक 5 साल पहले रोजी-रोटी के लिये राजस्थान के राजसमंद गया था। युवक की शादी हो चुकी है। उसके वच्चे भी हैं। गांव के ग्राम प्रधान ने बताया कि गांव पर वच्चे की साख काफी अच्छी है। स्थानीय थाने में कभी भी किसी भी प्रकार का मुकदमा दर्ज नहीं है। 

महराजगंज से ज्ञानेन्द्र त्रिपाठी की रिपोर्ट.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *