महिला पत्रकार से बदसलूकी करने वाले तरुण तेजपाल छह महीने के लिए हटे

नई दिल्ली: तहलका पत्रिका के संपादक तरुण तेजपाल ने एक महिला पत्रकार के साथ बदसलूकी की बात स्वीकार करते हुए बुधवार को अपने पद से छह महीने के लिए हटने की पेशकश की। तहलका की प्रबंध संपादक शोमा चौधरी को लिखे पत्र में तेजपाल ने कहा, ‘पिछले कुछ दिन बहुत परीक्षा वाले रहे और मैं पूरी तरह इसकी जिम्मेदारी लेता हूं। एक गलत तरह से लिए फैसले, परिस्थिति को खराब तरह से लेने के चलते एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई जो उन सभी चीजों के खिलाफ है जिनमें हम विश्वास करते हैं और जिनके लिए संघर्ष करते हैं।’

उन्होंने कहा, ‘मैंने संबंधित पत्रकार से अपने दुर्व्‍यवहार के लिए पहले ही बिना शर्त माफी मांग ली है, लेकिन मैं महसूस कर रहा हूं कि और प्रायश्चित की जरूरत है।’ तहलका के संस्थापक सदस्य तेजपाल ने अपने पत्र में लिखा है, ‘क्योंकि इसमें तहलका का नाम जुड़ा है और एक उत्कृष्ट परंपरा की बात है, इसलिए मैं महसूस करता हूं कि केवल शब्दों से प्रायश्चित नहीं होगा। मुझे ऐसा प्रायश्चित करना चाहिए जो मुझे सबक दे। इसलिए मैं तहलका के संपादक पद से और तहलका के दफ्तर से अगले छह महीने के लिए खुद को दूर करने की पेशकश कर रहा हूं।’

बाद में शोमा चौधरी ने तहलका के अन्य कर्मियों को एक मेल भेजकर घटनाक्रम की जानकारी दी। उन्होंने कहा, ‘यह आपमें से कई लोगों के लिए अजीब हैरानी की बात हो सकती है। एक अप्रिय घटना घटी और तरण ने इस मामले में शामिल अपनी सहयोगी से बिना शर्त माफी मांगी है। वह अगले छह महीने के लिए तहलका के संपादक पद से अलग रहेंगे।’ तेजपाल के मेल की सूचना कर्मचारियों को दे दी गई है। एनडीटीवी से बात करते हुए चौधरी ने कहा कि यह संस्थान का भीतरी मामला है। चौधरी नेकहा कि महिला पत्रकार इस जवाब और माफीनामे से संतुष्ट है।

पीड़ित महिला पत्रकार के करीबी ने एनडीटीवी को बताया कि मात्र यौन शोषण, घोर यौन शोषण का मामला है। और यह एक बार नहीं हुआ, दो बार हुआ है। पीड़ित पत्रकार पूरी तरह से हिल चुकी है और घबराई हुई है। इनका कहना है कि पीड़ित पत्रकार इस पूरे प्रकरण की जांच की मांग कर रही है। एनडीटीवी से पत्रकार के करीबी ने कहा कि जवाब में 'संतुष्ट' शब्द का प्रयोग गलत है।  (एनडीटीवी)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *