शाही इमाम के विरुद्ध खबर छापने पर पत्रकार फरहान याहया को धमकी

जामा मस्जिद के शाही इमाम अहमद बुखारी के खिलाफ कल पत्रकार फरहान याहया ने एक खबर छापी थी. इस खबर से नाराज बुखारी समर्थक याहया को फोन पर गंभीर धमकियां दे रहे हैं. फरहान ने बुखारी की गुंडागर्दी को लेकर खबर प्रकाशित किया था. धमकियां मिलने के बाद से वे काफी डरे हुए हैं. इसी मामले को लेकर फेसबुक पर समर अनार्या ने एक स्‍टेटस डाला है, जिसमें इस मामले में जानकारी के लिए हेडलाइंस प्‍लस की एडिटर शीबा असलम फहमी से संपर्क करने को कहा गया है.

Samar Anarya : जामा मस्जिद के 'शाही' इमाम अहमद बुखारी की कल की गुंडागर्दी की खबर छापने वाले पत्रकार फरहान याह्या को आज सुबह से फोन पर गंभीर धमकियां मिल रही हैं. उनके साथ खड़े हों. और जानकारी के लिए Sheeba Aslam Fehmi से संपर्क करें. पोलिस स्टेशन फोन करें, और अधिकारियों पर पत्रकार फरहान याहया को सुरक्षा देने और इन धमकीबाजों और उनके आकाओं को गिरफ्तार करने की मांग भी करें.

Syed Shahroz Quamar : Ham sabhi saath hain.

Sheeba Aslam Fehmi : Woh complaint ya report kar den to main aap sabko update karungi.

Sheeba Aslam Fehmi : unka fb profile ye hai https://www.facebook.com/farhan.yahiya1?ref=ts&fref=ts

Haider Abbas : डरने की बात नहीं है, यह बस धमकिय ही देंगे
    
Hadi Rahbar : अहमद बुखारी जइसे लोगों की धमकियों में आने की कतई ज़रुरत नहीं है, इन के गुर्गे धमकियाँ ही दे सकते है, अगर अहमद बुखारी सही इस्लाम को पढ़ लेते या जान लेते तो कभी कांग्रेस और कभी मुलायेम सिंह यादव की चातोकारिता कभी नहीं करते, इन जैसों का दीन तो "पराये नान" है आगर ये "गदाये करीम " हॊते तो ऐसी हरकत कभी न करते, हम सहाफी फरहान याहिया के साथ हैं , और मांग करते है की सहाफी याहिया को धमकी देने वलून को गिरफ्तार किया जाये और फरहान याहिया की सुरछा की गारंटी भी दी जाये .

Samar Anarya : kewal Congress aur SP ki hi nahi, inhone to 2004 me BJP ko vote dene ke liye bhi fatwa jari kiya tha bhai.

Sheeba Aslam Fehmi : BTW Bukhari ne kabhi bhi Congress ko vote dene ka Fatwa nahi diya. Deal kabhi mature nahi hui.
 
Samar Anarya : Bilkul thik bat hai Hadi Rahbar bhai.
 
Samar Anarya : Nahi Sheeba, I think his father had issued a lot of Fatwa in favour of Congress.

Sheeba Aslam Fehmi : No Samar, never, infact this family started with anti congress wave during janta party time. It was their only claim to political interference.
   
Samar Anarya : oh, then thanks for getting me corrected.
   
Sheeba Aslam Fehmi : in last to last election Sheil visited him but gt better deal frm BJp via Shah….
   
Samar Anarya : Ha ha ha. So true. its all about deals for them. This election he had pitched himself against Azam Khan for his son or brother in law I forgot.
   
Sheeba Aslam Fehmi : Senior Bukhari gave fatwa fr Mayawati in 96.
    
Sheeba Aslam Fehmi : I carried a cover story 'maulana ki mausami siyasat' thn, way back…
   
Samar Anarya : मौलाना की मौसमी सियासत. वाह.
 
Sheeba Aslam Fehmi : the younger bro's territory is AP-Hydrabad…. he picks the contract of Dakhan muslims. …btw they r great chums with Owaisi's
   
Sheeba Aslam Fehmi : have managed a copy so far
    
Sheeba Aslam Fehmi : oops…. so many typos n skips… plz bear as m on mobile
   
Samar Anarya : Only point of language is communication, so does not matter till one is getting that right, and you always get that right.
 
Sheeba Aslam Fehmi : u kno Samar when I wrote the cover story मौलाना की मौसमी सियासत, I had no inkling tht someday I'll be married in a Jama Masjid family who'd have friendly relations with them and someday I'll b there neighbors.

Samar Anarya : I so thoroughly understand this and the complications it must have brought to your life.

Sheeba Aslam Fehmi : But my husband is in full support of my campaign, severed ties with them completely and is as active in this campaign.

समर अनार्य के फेसबुक वॉल से साभार.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *