साक्षी के वरिष्‍ठ पत्रकार एवं पुलिस अधिकारी के खिलाफ एफआईआर

हैदराबाद। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के एक वरिष्ठ अधिकारी के फोन कॉल के आकड़े से सम्बंधित विवाद ने मंगलवार को एक नया मोड़ ले लिया। साइबराबाद पुलिस ने मंगलवार को एक महिला की शिकायत पर एक पत्रकार और एक पुलिस अधिकारी के खिलाफ मामला दर्ज किया। सीबीआई अधिकारी इस महिला के सम्पर्क में था। तेलुगू दैनिक 'साक्षी' के एक वरिष्ठ संवाददाता के यादगिरि रेड्डी, और नचराम पुलिस थाने के पुलिस निरीक्षक एम श्रीनिवास राव तथा अन्य के खिलाफ एक मामला साइबराबाद आयुक्तालय के साइबर अपराध पुलिस थाने में दर्ज किया गया। 'साक्षी' वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के नेता वाई एस जगनमोहन रेड्डी के स्वामित्व वाला अखबार है।

सीबीआई के संयुक्त निदेशक वी वी लक्ष्मीनारायण की मित्र, चंद्रबाला वासिरेड्डी की एक शिकायत पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की विभिन्न धाराओं- सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम-2000, भारतीय टेलीग्राफ अधिनियम-1885, और आधिकारिक गोपनीयता अधिनियम-1923 -के तहत एक मामला दर्ज किया गया है। साइबराबाद पुलिस आयुक्त द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, वासिरेड्डी ने आरोप लगाया है कि साक्षी न्यूज चैनल ने उनके सेल फोन के कॉल विवरण की गोपनीय जानकारियां सार्वजनिक करके उनकी मर्यादा को नुकसान पहुंचाने के लिए एक कार्यक्रम का प्रसारण किया था। वासिरेड्डी की एक याचिका पर राज्य मानवाधिकार आयोग के निर्देश के बाद पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई की है।

वाईएसआर कांग्रेस पार्टी ने 21 जून को लक्ष्मीनारायण द्वारा वासिरेड्डी और साक्षी के प्रतिद्वंद्वी मीडिया समूहों के पत्रकारों को किए गए कॉल्स के विवरणों का खुलासा किया था। लक्ष्मीनारायण पर जगनमोहन रेड्डी के खिलाफ अवैध सम्पत्ति के मामले में पक्षपातपूर्ण जांच करने का आरोप लगाते हुए वाईएसआर कांग्रेस ने दावा किया था कि पिछले दो महीनों के दौरान चंद्रबाला ने लक्ष्मीनारायण को 328 कॉल्स किए थे, जबकि लक्ष्मीनारायण ने चंद्रबाला को 411 कॉल्स किए थे। साभार : आईबीएन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *