सेबी ने शुरू की सुब्रत राय तथा सहारा पर अभियोजन की प्रक्रिया

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने सहारा समूह की दो कंपनियों के खिलाफ अभियोजन की प्रक्रिया शुरू कर दी है। बाजार नियामक ने आरोप लगाया है कि उच्चतम न्यायालय के आदेशानुसार सहारा समूह तीन करोड़ निवेशकों से संबंधित दस्तावेज मुहैया कराने में असफल रहा है। सेबी ने कहा, 'सहारा इंडिया रियल एस्टेट कॉरपोरेशन (एसआईआरईसीएल) और सहारा हाउसिंग इन्वेस्टमेंट कॉरपोरेशन (एसएचसीआईएल) और उनके प्रवर्तकों-निदेशकों अशोक राय चौधरी, रवि शंकर दुबे, वंदना भार्गव और सुब्रत राय सहारा के खिलाफ अभियोजन की प्रक्रिया शुरू की गई है। 

बाजार नियामक ने कहा कि सहारा ने उच्चतम न्यायालय के 31 अगस्त, 2012 के आदेश के तहत दस्तावेज नहीं दिए हैं। हालांकि सहारा समूह के प्रवक्ता ने सेबी के कदम पर कोई टिप्पणी नहीं की। उधर, सेबी ने निवेशकों की निजी रूप से पहचान के लिए एजेंसियों की नियुक्ति सबंधी निविदा की समयसीमा एक माह के लिए बढ़ा दी है। (एजेंसी)

 

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia 

Leave a Reply

Your email address will not be published.