टीओआई का धमाका : गडकरी की कंपनी को फंडिंग 100 कंपनियों के मकड़जाल के जरिए हुई

नई दिल्ली। नितिन गडकरी की कंपनी पूर्ति पावर एंड शुगर लिमिटेड से जुड़ा एक और चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। ये खुलासा अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया ने किया है। अंग्रेजी अखबार के मुताबिक गडकरी की कंपनी पूर्ति को फंडिंग करीब 100 कंपनियों के मकड़जाल के जरिए हुई। ये इतनी चालाकी से हुआ है कि इस समझना काफी मुश्किल है। एक-एक कंपनियों के कई-कई मालिक हैं। 

 
अखबार के मुताबिक ये तमाम कंपनियां पूरे देश में अलग-अलग पतों पर रजिस्टर्ड हैं और इनकी संख्या 100 से ज्यादा हो सकती है। अगर ये सच है तो गडकरी के एक फर्म की फंडिंग में 100 कंपनियां शामिल हैं। मिसाल के तौर पर पूर्ति की मददगार कंपनी अपडेट मर्कन्टाइल के पास 28 सितंबर, 2011 तक पूर्ति के 29 लाख शेयर थे। लेकिन अपडेट मर्कन्टाइल का नियंत्रण भी 39 शेयर होल्डरों के पास है। 10,000 शेयरों के साथ अनंतिका इंफ्रास्ट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड, अपडेट मर्कन्टाइल की सबसे बड़ी शेयर होल्डर कंपनी है। लेकिन अनंतिका इंफ्रास्ट्रक्चर के भी 13 मालिक हैं जिनमें 2 व्यक्ति और 11 कंपनियां शामिल हैं। इनमें से 9 कोलकाता के पते पर हैं और दो दिल्ली के पते पर हैं। इनमें से एक फास्ट बिल्डवेल कंपनी दिल्ली के द्वारका में एक फ्लैट के पते पर रजिस्टर्ड है।
 
इधर इस फास्ट बिल्डवेल कंपनी के सभी शेयर 17 कंपनियों के पास हैं। इनमें 12 कंपनियां कोलकाता के पते पर हैं, चार दिल्ली के पते पर और एक मुंबई के पते पर रजिस्टर्ड हैं। इनमें से दिल्ली के पते की एक किंग बिल्डवेल कंपनी का नियंत्रण कोलकाता के दो व्यक्तियों के पास है। फंडिंग पैटर्न से साफ है कि पूरी योजना के पीछे किसी शातिर दिमाग की चाल है। (आईबीएन)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *