चंदौली में फर्जी सीएमओ के साथ आईबीएन7 का नकली पत्रकार धराया

चंदौली जिला फर्जी पत्रकारों का गढ़ बनता जा रहा है। कोई पांच-पांच चैनल का आईडी लेकर घूमता है तो कोई कई अखबारों में काम करने का लेटर। अब कौन असली और कौन नकली है, यह तय कर पाना मुश्किल हो जाता है। यहां कुछ असली और कुछ नकली दोनों पत्रकार वसूली करने के आरोपों में घिरे रहते हैं। कुछ पुलिस के दलाल होते हैं तो कुछ नेताओं के। ताजा मामला बबुरी थाना क्षेत्र का है। यहां चिकित्सकों से रौब गांठ कर वसूली कर रहे दो व्यक्तियों को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया गया। इनमें से एक खुद को सीएमओ व दूसरा खुद को एक जाने माने चैनल का रिपोर्टर बता  रहा था।

ब‍ताया जा रहा है कि मोटरसाइकिल सवार दो लोग पांडेयपुर स्थित एक निजी चिकित्सालय पहुंचे। उनमें से एक ने खुद को आईबीएन7 चैनल का रिपोर्टर बताते हुए वीडियोग्राफी करनी शुरू कर दी। फिर दूसरा खुद को सीएमओ बता कर चिकित्‍सक को दबाव में लेना शुरू कर दिया। डाक्‍टर जब अर्दब में आ गया तो कार्रवाई न करने के नाम पर इन लोगों ने उससे पांच सौ रुपये वसूल लिए। इसके बाद ये दोनों जांच करने के लिए बबुरी पहुंच गए। यहां पहुंच कर एक अन्य चिकित्सालय की वीडियोग्राफी कर उससे इन लोगों ने ढाई हजार रुपये वसूले लिए। इसके बाद जैसे ही ये लोग तीसरे शिकार के पास पहुंचे उसे संदेह हो गया।

सीएमओ को मोटरसाइकिल पर देखकर उसे शक हुआ तो उसने अपने लोगों को बुला लिया तथा इन दोनों लोगों को दबोचकर पुलिस बुलाने की धमकी देने लगा। पुलिस का नाम सुनते ही दोनों लोगों की हवा टाइट हो गई। इसके बाद तो भीड़ ने दोनों की जमकर धुनाई की। इसके बाद डाक्‍टरों ने पुलिस को बुलाकर दोनों को उनके हवाले कर दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। पकड़े गए आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में अपना नाम धीरज कुमार निवासी शाहकुटी, मुगलसराय व राम अवतार पाण्डेय निवासी बक्सर बिहार बताया है। तलाशी के दौरान दोनों के पास से दो कैमरे व पांच हजार रुपये भी  मिले।  

इस बाबत पुलिस अधीक्षक चंदौली शरद सचान ने बताया कि वसूली करते दो लोग पकड़े गए हैं, जिनमें एक आईबीएन7 न्यूज़ चैनल का पत्रकार व दूसरा सीएमओ बन कर वसूली कर रहा था। पुलिस द्वारा कार्रवाई की जा रही है। बता दें कि बबुरी में धीरज कुमार नाम के जिस आरोपी को पकड़ा गया है, इस नाम का कोई रिपोर्टर नहीं है। चंदौली में सूरज जायसवाल के नाम पर संतोष जायसवाल नामक युवक विगत कई वर्षों से आईबीएन7 को खबरें भेजता  आ रहा है।

यह संतोष जायसवाल अलग-अलग नामों से आईबीएन7, एएनआई, इंडिया टीवी, यूपी न्यूज़, न्यूज़ 24, टाइम्स नाऊ, हमार टीवी, न्यूज़ नेशन आदि चैनलों पर खबरें भेजता है। लिहाजा शुरू में लोगों को लगा कि बदले नाम से वसूली करते यही पत्रकार पकड़ा गया है, लेकिन बाद में सच्‍चाई दूसरी निकली। पहले से ही जिले में इतने फर्जी नामों वाले रिपोर्टर मौजूद हैं कि आंकलन करना मुश्किल हो जाता है कि कौन सही है और कौन गलत?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *