आनन्द भवन कैंपस के बेरोजगार दलित युवाओं की दर्द भरी दास्तां…

सर हम सभी आनन्द भवन कैंपस के बेरोजगार दलित युवा हैं। हमारे पिता जी लोग आनन्द भवन संग्रहालय में अलग-अलग पद पर कार्यरत है। हम लोगो का पूरा बचपन यहीं बीता है। यहां के कुछ कर्मचारी तो पंडित जवाहर लाल नेहरू जी के जमाने से थे। पर अब वो रिटायर हो गयें  हैं। उनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। 
हमने कांग्रेस पार्टी को कई पत्र लिखे ईमेल भी किया। पर वहां के अधिकारी हमारी बात राहुल गांधी तक नहीं पहुंचने देते। जब वो आनन्द भवन आते है तो यहां के अधिकारी गेट पर ताला लगवा देते हैं। यहां तक की घर का समान लेने के लिये भी घुमाकर बाल भवन के गेट से भेजते हैं आखिर हम अपनी समस्या किससे कहें। क्योंकि राहुल गांधी जी तो आम आदमी की पहुंच से दूर है। हम लोग कांग्रेस पार्टी से ये कहना चाहते हैं कि जिसके घर के दलित युवा बेरोजगार है। तो देश के बेरोजगार युवा और दलित कैसे विश्वास करेंगे। क्या कांग्रेस पार्टी अब आम आदमी पर ध्यान नहीं देती। हमारा परिवार व अन्य कर्मचारी कई वर्षो से कांग्रेस को आंख मूंद कर वोट देते हैं। कुछ तो कई पीढ़ी से दे रहे हैं। क्या उस विश्वास की कोई कीमत नहीं हैं।
 
अगर आप लोग हमारी ये बात कांग्रेस के आला अधिकारियों और नेताओं को पहुंचा दें। तो हम आपके जीवन भर आभारी रहेंगे। सर हम लोगो ने जो पत्र भेजा था वो आपको भी मेल से भेज रहे हैं। 
arjunbrahmatitu@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *