जिंदल ने जारी की स्टिंग ऑपरेशन की सीडी, ज़ी ने कहा: ‘डमी’ था प्रपोजल

कांग्रेसी सांसद नवीन जिंदल ने गुरुवार को दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीडिया हलकों में हंगामा मचा दिया। उन्होंने ख़बरिया चैनल ज़ी न्यूज़ पर आरोप लगाया है कि उसने एक खबर रोकने के लिए उनसे 100 करोड़ रुपये की घूस मांगी थी। उन्होंने अपने आरोप के समर्थन में एक स्टिंग ऑपरेशन की सीडी भी जारी की।  

इस सीडी में ज़ी न्यूज़ के संपादक सुधीर चौधरी और ज़ी बिजनेस के संपादक समीर आहलूवालिया जिंदल के अधिकारियों से सौ करोड़ के विज्ञापन के बारे में बात करते दिखाई पड़ रहे हैं।
 
नवीन जिंदल के मुताबिक इन दोनो संपादकों ने खबर रोकने के बदले में उनसे 100 करोड़ रुपए मांगे थे। जिंदल ने मीडिया के सामने दोनो संपादकों से बातचीत की रिकॉर्डिंग भी दिखाई। जिंदल का आरोप है कि कोयला घोटाले की खबर रोकने के बदले ज़ी न्यूज़ के संपादक सुधीर चौधरी और ज़ी बिजनेस के संपादक समीर आहलूवालिया ने जिंदल ग्रुप से सौदेबाजी की। नवीन जिंदल ने दोनों पर आरोप लगाया कि उनसे 13, 17 और 19 सितंबर को कंपनी के लोगों की मीटिंग हुई जिसमें उन्होंने करोड़ों की ये रकम मांगी। उनके मुताबिक पहले 20 करोड़ और बाद में 100 करोड़ रुपए मांगे गए।
 
नवीन जिंदल ने सबूत के तौर पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर संपादकों से हुई बातचीत की वीडियो रिकॉर्डिंग भी जारी की। इस रिकॉर्डिंग में नवीन जिंदल और संपादकों के बीच बातचीत होते हुए स्पष्ट दिखाया गया है।
 
वहीं दूसरी तरफ ज़ी न्यूज का कहना है कि सीडी में जो बातचीत दिखाई जा रही है वह असल बातचीत का एक बहुत छोटा हिस्सा है। ज़ी न्यूज़ ने इन आरोपों की सफाई में अपने दोनों चैनलों पर बाकायदा एक कार्यक्रम भी प्रसारित किया। 
 
दोनों संपादकों से इस कार्यक्रम की ऐंकरिंग की जिसमें उन्होंने ये तो माना कि जिंदल ग्रुप को उन्होंने 100 करोड़ के विज्ञापन का कॉन्ट्रैक्ट भेजा था, लेकिन दोनों ने दावा किया कि ये कॉन्ट्रैक्ट 'डमी' यानी झूठा था और इसके जरिये जिंदल को बेनकाब करने की कोशिश की जा रही थी। दोनों संपादकों ने ये भी कहा कि उन्हें 25 करोड़ में खरीदने की कोशिश की जा रही थी, लेकिन वे नहीं बिके।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *