पार्श्व गायक मुकेश की 37वीं पुण्यतिथि पर संगीतमय श्रद्धांजलि

महान पार्श्व गायक मुकेश की 37वीं पुण्यतिथि की पूर्व संध्या पर नोएडा में इंदिरा गांधी कला केन्द्र में आयोजित संगीतमय श्रद्धांजलि समारोह ‘‘जादू-ए-मुकेश’’ के मौके पर सांस्कृतिक संस्था ‘‘सखा’’ के अध्यक्ष अमरजीत सिंह कोहली द्वारा लिखित पुस्तक ‘‘मुकेश : सुनहरे स्वर और सुनहरे दिल का मालिक’’ का विमोचन किया गया। यह पुस्तक 28 साल पहले मूल रूप में अंग्रेजी में प्रकाशित पुस्तक (मुकेश : गोल्डन वॉयस विद ए गोल्डन हार्ट) का हिन्दी रूपांतर है। हिन्दी रूपांतरण पत्रकार और लेखक विनोद विप्लव ने किया है।

समारोह का आयोजन नोएडा की सांस्कृतिक संस्था ‘‘करुणा कला केंद्र’’ और ‘‘सुर संपदा’’ की ओर से संयुक्त रूप से आयोजित कार्यक्रम में अमरीका में रहने वाले प्रवासी भारतीय उद्योगपति अवतार चंद वर्मा ने किया। कार्यक्रम में श्री हरीश नदान के नेतृत्व में ऑल राउंडर ऑर्केस्ट्रा के संगीतकारों की संगत के साथ भारत के सभी भागों से आये प्रतिभावान गायकों ने मुकेश के यादगार गीतों को गाकर गायक मुकेश की स्मृतियों को ताजा कर दिया। कार्यक्रम का संयोजन करूणा कला केन्द्र के करूणेश शर्मा ने किया। इस मौके पर प्रसिद्ध कला सागर समूह अपनी प्रणेता शिवानी अरोड़ा के निर्देशन में मुकेश के गीतों पर सामूहिक नृत्य पेश करके दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। संपदा नागपाल ने एकल नृत्य पेश करके दर्शकों का दिल जीत लिया।

सुर संपदा के संस्थापक श्री अतुल नागपाल ने कहा कि भारत की पहली फिल्म ‘‘राजा हरिश्चंद्र’’ कोरोनेशन सिनेमा, मुंबई में 3 मई 1913 को रिलीज की गयी थी और इसे ध्यान में रखते हुये भारतीय सिनेमा के 100 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में सोसाइटी, 3 मई, 2014 तक फिल्म आधारित कई कार्यक्रम पेश करेगी। इन दोनों संस्थाओं की ओर से संयुक्त रूप से मुकेश की याद में श्रद्धांजलि समारोहों का आयोजन किया जा रहा है। यह नौवां श्रद्धांजलि समारोह है। दिल्ली में 22 जुलाई 1923 को जन्मे मुकेश का 27 अगस्त, 1976 को अमेरिका में डेट्रायट शहर में निधन हो गया था।

प्रेस विज्ञप्ति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *