अमर-जया वार्ता : कान के कच्चे, चिड़ी का चिक्का, चिकनी टांगें

जया प्रदा के साथ अमर सिंह जब बात करते हैं तो करते ही जाते हैं… जया प्रदा एक अच्छी शिष्या की तरह उन्हें सुनती रहती हैं. अमर सिंह के जो टेप जारी हुए हैं उसमें कई टेप जया प्रदा से बातचीत के हैं. सभी लोग जानते हैं कि अमर सिंह ही जया प्रदा को सपा में लेकर आए, सांसद बनवाया और राजनीति में एक मुकाम दिलाया. पर यह कहानी अब सरेआम हुई है कि जया प्रदा और अमर सिंह के बीच बहुत अच्छी आपसी समझ थी.

जया प्रदा को राजनीति न के बराबर आती थी. उन्हें अमर सिंह ने सिखा सिखाकर ट्रेंड किया. अमर टेपों में अमर सिंह जया प्रदा से हर तरह की बातचीत करते हैं. कभी लगता है कि वे जया प्रदा से प्रेम करते हैं, कभी लगता है कि वे जया प्रदा को राजनीतिक शिष्या मानते हैं, कभी लगता है कि वे जया प्रदा का इस्तेमाल अपना हित साधने के लिए करते हैं. जया प्रदा सिर्फ हां हां करती रहती हैं इन टेपों में. लीजिए यह टेप सुनिए. इसमें अमर सिंह जया प्रदा से जो कुछ कहते हैं, उसका सार संक्षेप इस प्रकार है–

”मैं न रहूं तो आप भी भाग ही जाओ न… दिस इज द स्टोरी आफ माई लाइफ. डिफिकल्ट लोगों से घिरा हुआ हूं मैं.. नेताजी डिफिकल्ट… यू आर डिफिकल्ट…. एवरी बडी डिफिकल्ट…. यूआर आलसो… यूआर इन प्रोफेशन दैट इज पालिटिक्स… ये है न प्राब्लम… सब डिफिकल्ट लोग हैं, जो क्लोज लोग हैं. मुलायम सिंह जी हैं,  उनके दिमाग में कोई बात घुसाओ दस बार…. एबाउट यू, मेरे बारे में तो कोई बात नहीं, लेकिन आपके बारे में घुसाना पड़ता है… नेताजी कान के बहुत कच्चे हैं…. मैं न रहूं तो आपको चिड़ी का चिक्का बना दें ये लोग…. अजीत सिंह को बहुत प्राब्लम है हम लोगों से… बिहार में हम लोगों के चार एमएलए क्यों हैं… कर्नाटक में रैली क्यों कर ली… अजीत के पिता बड़े नेता थे… उनका आधार मुलायम ने ले लिया… अब अजीत को लगता है कि सपा उनकी जमीन पर राजनीति कर रही है… कांग्रेस को प्राब्लम है… उनकी जमीन मुलायम ने ले ली… बीजेपी यूपी में घुस गए थो उनको हमने भगा दिया.. जेलस.. वैसे ही जैसे श्रीदेवी या राधिका तुमसे जेलस होंगी… वो सोचती होंगी कि मंडी में मैं भी हूं, ये क्यों चल रही है…. मैं पहले आम्रपाली में लगा हूं… फिर कमल हसन और आप वाला… ये होना बहुत जरूरी है… ये थोड़ी सोचा था ये हो जाएगा नितिन वाला.. तुमको बुद्धि तो है नहीं… यू आर ए वेरी गुड फालोअर… तुम्हें एक लाइन दे दिया जाए चलने के लिए तो तुमसे अच्छा कोई नहीं… तुम्हें जब काम दे दिया जाए सोचने के लिए तो तुमसे बुरा कोई नहीं… तुमको बोलता कि रामपुर प्लान करो तो डुब डुबा के आती… मुझे चिकनी टांगें पसंद हैं… तुम वैसा रखती हो.. मैं छोटे छोटे उदाहरण देकर समझा रहा हूं… मैंने ऐसा कहा, तुमने अच्छे से फालो किया. मेरे लिए… बहुत दर्द हुआ होगा वैक्स कराने में…”

यही नहीं, और भी ढेर सारी बातें हैं जिसे आप बिना सुने नहीं समझ सकते, नहीं महसूस कर रसते. अमर सिंह और जया प्रदा के बीच की गजब की ट्यूनिंग जानने-समझने के लिए इस टेप को सुनना बहुत जरूरी है. तो आप नीचे दिए गए आडियो प्लेयर का साउंड फुल कर लें और प्ले पर क्लिक कर दें… अगर इस टेप को सुनते हुए आपको कोई और जानकारी या सूचना मिले, कोई अन्य बात या भाव समझ आए तो सबको बताएं, नीचे दिए गए कमेंट बाक्स के जरिए…

There seems to be an error with the player !

अमर सिंह से जुड़े सभी टेप-सभी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें- अमर कथा टेप

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Comments on “अमर-जया वार्ता : कान के कच्चे, चिड़ी का चिक्का, चिकनी टांगें

  • MATLAB SAAF HAI KI THIS IS A VERY BIG SEX SCANDAL……AUR YEHI KOI CHOTA HOTA TO POLICE AB TAK USE PAKAD LETI

    Reply
  • tejwani girdhar says:

    वाकई ये बहुत बुरी बात है, शुक्रिया आपका जो आपने तथ्यों को सभी के सामने पेश किया है

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *