गोरखपुर जर्नलिस्‍ट प्रेस क्‍लब के अध्‍यक्ष बने एसपी सिंह

: अजीत कुमार उपाध्‍यक्ष तथा मनीष मंत्री चुने गए : जर्नलिस्ट प्रेस क्लब, गोरखपुर की नवीन कार्यकारिणी का चुनाव रविवार को हुआ, जिसमें एसपी सिंह अध्यक्ष, अजीत कुमार यादव उपाध्यक्ष एवं मनीष कुमार मिश्रा मंत्री चुने गए। चुनाव को लेकर प्रेस क्लब पर सुबह से ही भारी गहमा-गहमी रही। सुबह नौ बजे से मतदान शुरु हुआ। तीन बजे तक चले मतदान में कुल 554 में से 474 मतदाताओं ने वोट डाले।

अपराह्न चार बजे से मतगणना शुरु हुई और लगभग सायं 6.30 बजे परिणामों की घोषणा की गई। एसपी सिंह को 186 मत प्राप्त हुए। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वन्दी मृत्युंजय शंकर सिन्हा को 60 मतों से पराजित किया। अध्यक्ष पद पर मृत्युंजय को 126, अरविंद शुक्ला को 99, एसके सिंह को 51, कामेश्वर उपाध्याय को 3 मत मिले, जबकि 9 मत अवैध पाए गए। उपाध्यक्ष पद पर अजीत कुमार यादव सर्वाधिक 349 मत पाकर विजयी रहे। दूसरे स्थान पर अखिलेश शर्मा को 119 मिले तथा 6 मत अवैध रहे। मंत्री पद पर प्रत्याशियों में सीधी टक्कर रही। इसमें मनीष कुमार मिश्रा को सबसे अधिक 247, द्वितीय स्थान रहे मार्कण्डेय मणि को 219 मत मिले। इस पद के लिए 8 मत अवैध रहे।

पुस्तकालय मंत्री के लिए डीके गुप्ता को 251, अजय राय को 188, अशोक सिंह को 30 वोट मिले तथा 5 मत अवैध रहे। कार्यकारिणी सदस्य के तीन पदों पर सर्वेश त्रिपाठी 216, रवीश श्रीवास्तव 172 तथा राजेश पाण्डेय ने 150 मत पाकर जीत हासिल की। वहीं आशीष भट्ट को 149, अनिल राय को 122, विनीत कुमार को 128, धर्मेन्द्र त्रिपाठी को 44, चंदन को 16 तथा विवेक कुमार अस्थाना को 47 लोगों ने वोट किया, जबकि 14 मत अवैध रहे। बतातें चलें कि कोषाध्यक्ष पद पर डॉ. अरुण कुमार राय तथा संयुक्त मंत्री के लिए नरेन्द्र कुमार तिवारी पहले ही निर्विरोध निर्वाचित हो चुके हैं।

मतदान व मतगणना, चुनाव अधिकारी राजन राय, सहायक चुनाव अधिकारी बृजेन्द्र कुमार सिंह, अभिनव उपाध्याय, बृजबिहारी लाल श्रीवास्तव एडवोकेट तथा विधि सलाहकार विवेक कुमार राय के नेतृत्व में संचालित हुआ। सायंकाल परिणाम आने के बाद मीडिया कर्मियों एवं समर्थकों ने विजयी प्रत्याशियों को फूलमालाएं पहनाई, अबीर-गुलाल उड़ाया तथा मिठाईयां बाटकर बधाई दी। इस चुनाव की खास बात यह रही कि मठाधीश पूरी तरह चित हो गये और दूसरी बार चुनाव में उतरने वालो को वोटरों ने नकार दिया। महत्‍वपूर्ण यह भी रहा कि किसी भी बडे़ मीडिया घराने से कोई पत्रकार चुनाव में नहीं उतरा । दैनिक जागरण, अमर उजाला, हिंदुस्तान और राष्ट्रीय सहारा से एक भी पत्रकार चुनाव मैदान में बडे़ पदों पर नहीं उतरा।

Comments on “गोरखपुर जर्नलिस्‍ट प्रेस क्‍लब के अध्‍यक्ष बने एसपी सिंह

  • Sadashiv Tripathi says:

    गोरखपुर जर्नलिस्‍ट प्रेस क्‍लब की नवनिर्वाचित टीम को हमारी हार्दिक शुभकामनाए; एसपी सिंह; अजीत यादव और डीके को कामयाबी के लिए विशेषतौर पर बधाई के साथ एसपी तक मेरा एह संदेश पहुंचे कि प्रेस क्‍लब की गरिमा को बढाने का प्रयास हों;

    सदाशिव त्रिपाठी
    द संडे इंडियन ; नोएडा

    मोबाइल- 09871273171

    Reply
  • darubaj team ko jeeat ko badhai. swathya vibhag ke tekedar ko bhi badhai. unhe bhi badhai jinhone daru aur murga khakar rajesh pondey ko vote diya. president jee prabhas jee to nahi rahe. asli patrakar bhi nahi aa rahe hai press club me. ab daru bar kul jaye. lk dubey

    Reply
  • manish kumar pandey says:

    बहुत ख़ुशी हुई जानकर कि आखिर .. एस पी सिंह जी सफल हो ही गए …
    उनकी इस बार कि जीत से सही कहे तो मै काफी खुश हूँ , मुझे याद है आज के
    तीन साल पहले जब गोरखपुर प्रेस क्लब का चुनाव था , मै भी वाही मौजूद था
    हमें यकीन था कि इस बार एस पी सिंह जी जरूर जीत जायेंगे पर आखिरी में
    कुछ मठाधीश प्रेस क्लब पहुचे और उनकी मौजूदगी के बाद न जाने किसे लोगो
    के विचार बदल गए और जब परिणाम सामने आया तो कुछ ही वोटो से इन्हें
    हारना पड़ा दुसरे साल भी यही हुआ पर इस बार इनकी जीत उन लोगो के लिए
    बहत बड़ा झटका है जो लोग इन्हें प्रेस क्लब अध्यक्ष कि कुर्शी पर देखना नहीं चाहते थे |
    हलाकि इस बात से कोई इनकार नहयी कर सकता कि एस पी सिंह जैसा पत्रकार शायद
    ही गोरखपुर में हो और जो लोग पत्रकरिता कि दुनिया में कदम रखते है सबसे पहले उन्हें
    इन्ही के द्वारा ब्रेक मिलता है ….मै ये सब आपको इसलिए नहीं बता रहा हूँ कि मै इनका
    प्रसंशक हूँ … बल्कि इसलिए कि मै आज जहा हूँ इन्ही की वजह से हूँ मै एक छोटे से शहर से निकलकर
    राजधानी तक पहुच गया .. और वो आज भी गोरखपुर मर है … एक बार फिर उनको मेरी तरफ से
    ढेर सारी बधाईया

    Reply
  • pure team ko nahi sirf ajit ji ko badhai de ra hun. ajit yadav ji aapse umeed hai ki kuch karengen baki ke to lutere hain

    Reply
  • cunaw me ek nahi do thekedar phuche hai. ek arun rai hai. inki histri sabko pata hai. magar inke pistal ke samne kisi ne himmat nahi dikhai. rajesh pandey ke liye kai patrkar bhai lage they.

    Reply
  • Dr. Ratnesh Tripathi says:

    सर्वप्रथम कार्यकारिणी सदस्य के लिए नव निर्वाचित श्री सर्वेश त्रिपाठी जी को सादर प्रणाम सहित बहुत बहुत बधाई | और साथ में सभी निर्वाचित सदस्यों को भी बधाई ! मैंने ऊपर दिए प्रबुद्ध लोगों के कमेन्ट भी पढ़े …थोड़ी निराशा हुयी कि सब अपने को पत्रकार कहते हैं ..और दूसरे पत्रकार कि बुराई भी करते हैं ….मुझे लगता है जिस तरह देश का ये चौथा स्तम्भ खोखला हो रहा है ..ये उसी का परिणाम है ..खैर जो भी हो …लेकिन ये भी सही है कि हारने वाले (जरुरी नही कि गलत हों) या उनके समर्थक हारने के बाद अपने बयान भी देते हैं ..लेकिन अगर वो बयान सकारात्मक होता है तो हारने के बाद भी इन प्रत्याशियों कि महत्ता बनी रहती है ..लेकिन जब ये व्यक्तिगत आरोप प्रत्यारोप पर आधारित हो जाता है तो निश्चित ही स्वयं ही उनका खुद का सम्मान कम हो जाता है …..
    आप सब पढ़े लिखे और तथाकथित समाज के प्रबुद्ध लोग हैं …कृपया खुद के साथ साथ समाज के लिए भी कुछ सकारात्मक कर सके तो ये देश पर बड़ी भारी कृपा होगी ….सादर !
    डॉ रत्नेश त्रिपाठी

    Reply
  • Dr. Ratnesh Tripathi says:

    सर्वप्रथम कार्यकारिणी सदस्य के लिए नव निर्वाचित श्री सर्वेश त्रिपाठी जी को सादर प्रणाम सहित बहुत बहुत बधाई | और साथ में सभी निर्वाचित सदस्यों को भी बधाई ! मैंने ऊपर दिए प्रबुद्ध लोगों के कमेन्ट भी पढ़े …थोड़ी निराशा हुयी कि सब अपने को पत्रकार कहते हैं ..और दूसरे पत्रकार कि बुराई भी करते हैं ….मुझे लगता है जिस तरह देश का ये चौथा स्तम्भ खोखला हो रहा है ..ये उसी का परिणाम है ..खैर जो भी हो …लेकिन ये भी सही है कि हारने वाले (जरुरी नही कि गलत हों) या उनके समर्थक हारने के बाद अपने बयान भी देते हैं ..लेकिन अगर वो बयान सकारात्मक होता है तो हारने के बाद भी इन प्रत्याशियों कि महत्ता बनी रहती है ..लेकिन जब ये व्यक्तिगत आरोप प्रत्यारोप पर आधारित हो जाता है तो निश्चित ही स्वयं ही उनका खुद का सम्मान कम हो जाता है …..
    आप सब पढ़े लिखे और तथाकथित समाज के प्रबुद्ध लोग हैं …कृपया खुद के साथ साथ समाज के लिए भी कुछ सकारात्मक कर सके तो ये देश पर बड़ी भारी कृपा होगी ….सादर !
    डॉ रत्नेश त्रिपाठी

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *