पत्रकारों दलाली छोड़ो, दलालों पत्रकारिता छोड़ो

झारखंड के गोड्डा के पत्रकारों ने एक मुहिम शुरू की है. अपने घर की सफाई की. पत्रकारिता के अपने घर में घुस आए लफंगों, दलालों, चोरों को बाहर निकालने की तैयारी की है गोड्डा के पत्रकारों ने. इस बाबत एक संगठन बनाकर पोस्टर अभियान शुरू किया गया है.

गोड्डा के पत्रकारों का कहना है कि जिसे कोई काम नहीं मिला, उसने पत्रकार का चोला ओढ लिया. दलाल भी अपने आप को पत्रकार कहलाने लगे. ऐसे लोगों को शिनाख्त कर अलग-थलग करना है और मीडिया से बाहर फेंक देना है. यह अभियान गोड्डा से शुरू जरूर हुआ है पर ये फैलेगा पूरे झारखंड में.

Comments on “पत्रकारों दलाली छोड़ो, दलालों पत्रकारिता छोड़ो

  • santosh bhagat says:

    sangh ko badhaiee . der se uthaya gaya sahi kadam . jaroorat hai sirf is awaz ko abhiyan banane ki. yadi ham lage rahen to nischit hi yah andolan banega.
    hame suprasidhh vicharak

    mark twen ko yad kar shuru ho jana chahiye ki yadi ham apna rasta na badlen to wanhi pahuchenge ,jahan ke liye nikle the!

    santosh bhagat, godda.

    Reply
  • rakesh ranchi says:

    lagta hi patrakarita me tufan ane ke pahley GODDA ke patrkaro ne bhap liya. yesh toofan me achae log hi bach paya gee. yese v godda budhee gebio ka sahar hi.awaz uthni hi chayea

    Reply
  • Indian citizen says:

    अब सच-झूठ का निर्णय बहुत मुश्किल होता जा रहा है… एक कथित पत्रकार हैं जो दलाल टाइप के ही हैं लेकिन बड़े जुगाड़ू और चल रहे हैं…

    Reply
  • गोड्डा के पत्रकारों या जो लोग भी इस मुहीम को शुरू किये है. वे सभी बधाई के पात्र है. ऐसे दलाल जो पत्रकार बन गए है या पत्रकार दलाल बन गए है. उन्हें न सिर्फ गोड्डा बल्कि झारखण्ड के हर जिले से चिन्हित कर बाहर निकालने की जरुरत है. इस मुहीम को हर जिले से समर्थन मिलना चाहिए. लेकिन हमे इस प्रश्न का भी उत्तर खोजना होगा की ऐसी स्थिति आती क्यों है. अगर छोटे छोटे जिलो से खबर लेने वाले मीडिया हाउस के मालिक इन्हें उचित पारिश्रमिक और सम्मान दे तो इस समस्या से बहुत हद तक निजात मिल सकती है. हमें इस पर भी विचार करना होगा की आखिर पत्रकार दलाल क्यों बनता है या दलाल नुमा लोग पत्रकारिता में क्यों आते है. >:(

    Reply
  • akhir media house waise logo ko logo aur bainer thamakar certificate kyo de rahi hai. agar deti bhi hai to unko pariwar chalane layak majduri to mile. shikayato ke bad bhi yese dalal patrkaro ko badi badi house samanit kyo karte rahi hai.

    Reply
  • santosh kumar,dd news,muz says:

    aap logo ka bahut-bahut dhanyawad,maine bhi muzaffarpur me muhim chala rakhi hai.yaha too criminal case ke patrakar jise sp ne true kiya hai,waise log patrakar bane hua hai,yaha tak inhone press accreditation card tak banwa liya hai.galat patrakaron ke khilaf muhim jari rahegi…………..

    Reply
  • rajesh kumar says:

    jharkhand ke shirf godda jile me hi patrakar dalali nahi karte kamo bes yah sthiti sabhi jile ki hai. sabse dukhad pahlu yah hai ki media house wese logo ki jile main na kewal apni pahchan de rakha hai balki wese dalalo ko jila ka pramukh ka pad bhi de rakha hai. godda Zile ke patrakaron ka muhim srahniya hai.unki is muhim ko sabhi zile ke patrakaron ka samarthan melega yesi ummid hai. Rajesh Giridih

    Reply
  • Nidhi Shukla says:

    Bahi safai jaruri hi. oh samay dur nahi jab ek crimnal patrkkar ka card lekar sp se apna kam karayega. girbat ke had ho gaya ha bahi. PATRAKARITA to samag sewa hi. eshe manana hoga. Acheay kam ke liye dhanybad
    NIDHI SHUKLA SULTANPUR UP

    Reply
  • Rohit Gupta says:

    गोड्डा के पत्रकारों या जो लोग भी इस मुहीम को शुरू किये है. वे सभी बधाई के पात्र है. ऐसे दलाल जो पत्रकार बन गए है या पत्रकार दलाल बन गए है. उन्हें न सिर्फ गोड्डा बल्कि झारखण्ड के हर जिले से चिन्हित कर बाहर निकालने की जरुरत है. इस मुहीम को हर जिले से समर्थन मिलना चाहिए.

    Reply
  • sombrat Jha says:

    Godda ke Patrakaron ki Ho Sarahna
    SOMBRAT JHA, GIRIDIH
    Pahle ek Zile main 4-5 Patrakar hua karte the Par Ab 100 se Adhik Ho
    gaye hai. karan ka jawab khojna bahut mushkil nahi hai. par aise paristhiti koyun aati hai. Jise ABCD tak bnahi aati woh aaj patrakar hai. Ek chonga pakad liya aur ho gaye patrakar. unka maksad chamka kar paisa kamana hai. Bade log bhi 100-200 dekar apni karoron ki awaidh kamai kar rahe hain. yadi patrakar, patrkar ho jaye to unki samaj main izzat bhi badhegi aur desh ki sampatti bhi bachege.
    .
    .

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *