बिजनेस स्‍टैंडर्ड हिंदी के आठवें एडिशन की लांचिंग रायपुर से होगी

देश भर में सात स्‍थानों से प्रकाशित होने वाला बिजनेस स्‍टैंडर्ड हिंदी अब छत्‍तीसगढ़ में कदम रखने जा रहा है. अखबार का आठवां एडिशन रायपुर से शुरू होने जा रहा है. इसका उद्घाटन छत्‍तीसगढ़ के सीएम रमन सिंह करेंगे. इस एडिशन के एडिटोरियल का दायित्‍व भी नेशनल एडिटर भूपेश भंडारी संभालेंगे. इसके लिए पूरी टीम की नियुक्ति की जा चुकी है.

रायपुर में स्‍थापित प्रकाशन सेंटर से भिलाई, दुर्ग, बिलासपुर, जगदलपुर, रायगढ़ और कोरबा समेत कई शहरों के लिए सिटी संस्‍करण निकाले जाएंगे. अखबार का कवर प्राइज तीन रुपये रखा गया है. 14 पेज का यह अखबार कलर एवं ब्‍लैक एंड व्‍हाइट फार्मेट में प्रकाशित किया जाएगा. इस अखबार का उद्घाटन छत्‍तीसगढ़ के मुख्‍यमंत्री रमन सिंह 24 अगस्‍त को रायपुर में करेंगे. इस दौरान ‘बिजनेस स्‍टैंडर्ड समृद्धि’ विषयक एक सेमिनार का भी आयोजन किया गया है.

उल्‍लेखनीय है कि बिजनेस स्‍टैंडर्ड की लांचिंग फरवरी 2008 में की गई थी. जिसके बाद से अब तक इसके सात एडिशन मुंबई, दिल्‍ली, चंडीगढ़, लखनऊ, पटना, कोलकाता और भोपाल में लां‍च किए जा चुके हैं. रायपुर इसका आठवां एडिशन है.

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Comments on “बिजनेस स्‍टैंडर्ड हिंदी के आठवें एडिशन की लांचिंग रायपुर से होगी

  • Beware…….Business Standard Journlists.

    When the management closed down the edition, it is difficult to say as they did for Gujarati. don’t relt on this people and Kotak group…They may cheat you. SAVDHAAN…. RAHE HINDIVALE…..

    Reply
  • Beware….Business Standard Journalists……Don’t rely on this management. They may closed down any edition at any time.They did it for Gujarati edition. SAVDHAAN RAHE….KOTAK GROUP OR BUSINESS STANDARD KE DAMBHI LOGO SE……

    Reply
  • Beware……Business standard Journalists….These people may closed down the edition at any time. They did it for Gujarati edition in 2008.

    SAVDHAAN RAHE…IN KOTAK GROUP OR DHONGI LOGO SE……

    Reply
  • जब तक है माल तब तक तो चाटेगें भाई हम आपके सावधान करने से नही चेतेंगे

    Reply
  • जब बीएस की गुजराती अेडिशन शूरू की गइ इनले तीन महिने मे ही उनको बंध कर दीया और उनका कोई रिझन भी नहीं बताया. तो बिजनेस स्टान्डर्ड हिन्दी की नयी अेडिशन मे जुडने से पहले दो बार सोचना…

    Reply
  • Business standard pe aarope lagane wale dosto bus main itna hi kahunga ki Khisiyani Bill khambha noche, baki aap log kafi samajhdaar hai khud samajh gaye honge

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *