Connect with us

Hi, what are you looking for?

हलचल

आईबीएन7 टीम पर हमला के विरोध में पत्रकारों ने निकाला जुलूस

आईबीएन7 पर हुए हमले के विरोध में आज लखनऊ में पत्रकारों ने सड़कों पर जुलूस निकाला। पत्रकारों ने काली पट्टी बांध कर प्रदर्शन किया। भारी संख्या में पत्रकारों ने प्रेस क्लब से लेकर गांधीजी की प्रतिमा तक मौन जुलूस निकाला।गौरतलब है कि राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने इस मामले में उत्तर प्रदेश सरकार को नोटिस जारी किया है।

<p style="text-align: justify;">आईबीएन7 पर हुए हमले के विरोध में आज लखनऊ में पत्रकारों ने सड़कों पर जुलूस निकाला। पत्रकारों ने काली पट्टी बांध कर प्रदर्शन किया। भारी संख्या में पत्रकारों ने प्रेस क्लब से लेकर गांधीजी की प्रतिमा तक मौन जुलूस निकाला।गौरतलब है कि राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने इस मामले में उत्तर प्रदेश सरकार को नोटिस जारी किया है।</p> <p style="text-align: justify;" />

आईबीएन7 पर हुए हमले के विरोध में आज लखनऊ में पत्रकारों ने सड़कों पर जुलूस निकाला। पत्रकारों ने काली पट्टी बांध कर प्रदर्शन किया। भारी संख्या में पत्रकारों ने प्रेस क्लब से लेकर गांधीजी की प्रतिमा तक मौन जुलूस निकाला।गौरतलब है कि राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने इस मामले में उत्तर प्रदेश सरकार को नोटिस जारी किया है।

शिकायत में कथित रूप से कहा गया कि उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी की मौत संदिग्ध बताए जाने पर राज्य पुलिस ने एक टेलीविजन पत्रकार को उठा लिया। मानवाधिकार आयोग ने इस मामले में स्वत: संज्ञान लिया। समाचार चैनल आईबीएन 7 की रिपोर्ट में कहा गया कि उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी वाई.एस. सचान खुद अपने को चोट नहीं पहुंचा सकते थे। इसके बाद पुलिस कर्मियों ने समाचार चैनल के ब्यूरो प्रमुख को उठा लिया।

इसे मानवाधिकारों के उल्लंघन का मामला बताते हुए आयोग ने इस मामले में राज्य सरकार से एक सप्ताह के भीतर एक विस्तृत रिपोर्ट की मांग की है। आयोग ने राज्य के पुलिस महानिदेशक को भी नोटिस जारी किया है। लखनऊ जेल में न्यायिक हिरासत के दौरान सचान की मौत होने पर आयोग उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव, लखनऊ के जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को भी नोटिस जारी कर चुका है। साभार : आईबीएन खबर

Click to comment

0 Comments

  1. mirza nusrat

    June 29, 2011 at 4:45 pm

    patrkaro k sath aisa saluk achcha nahe hai,
    yeh gandhi ka bharat hai, zardare ka pakistan nahe,
    hmare bharat me ptrkaro k zrye he samsyaon ko uthaya ja raha hai,
    kya patrkaro ki aazadi ko chena chate he ye?
    mirza nusrat globalexpress

  2. Syed Mazhar husain

    June 29, 2011 at 6:52 pm

    Luckno ke Patrkaro ko salaam jo aaj ek saath ek saath dikhe Mayawati ab Pagla si ho gayi hai usi ke ishare par ye sab ho raha hai warna kisi police wale me himmat nahi ki Salabh jaise tez taraar parkaar ko utha le . Ab jis tarah se patrkaar ek saath huye hai ek huye hai is ektaa ko banaye aur bachaye rakhna hoga tabhi hum dat kar inka muqaabla kar sakte hai .

  3. kashish agarwal

    July 1, 2011 at 2:30 pm

    yeh lucknow ke bureau to apne liye jhulus nikal rahe hai aur stringaro ke pay roll ke liye kuch bhi nahi kar rahe,sir hum log to log roz marte hai naam to i.b.n7 hai lekin stringaro ke bare me aap log se accha kaun janta hai ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Advertisement

You May Also Like

Uncategorized

भड़ास4मीडिया डॉट कॉम तक अगर मीडिया जगत की कोई हलचल, सूचना, जानकारी पहुंचाना चाहते हैं तो आपका स्वागत है. इस पोर्टल के लिए भेजी...

Uncategorized

मीडिया से जुड़ी सूचनाओं, खबरों, विश्लेषण, बहस के लिए मीडिया जगत में सबसे विश्वसनीय और चर्चित नाम है भड़ास4मीडिया. कम अवधि में इस पोर्टल...

हलचल

[caption id="attachment_15260" align="alignleft"]बी4एम की मोबाइल सेवा की शुरुआत करते पत्रकार जरनैल सिंह.[/caption]मीडिया की खबरों का पर्याय बन चुका भड़ास4मीडिया (बी4एम) अब नए चरण में...

Uncategorized

भड़ास4मीडिया का मकसद किसी भी मीडियाकर्मी या मीडिया संस्थान को नुकसान पहुंचाना कतई नहीं है। हम मीडिया के अंदर की गतिविधियों और हलचल-हालचाल को...

Advertisement