टीवी100 संकट में, प्रबंधन पर पुलिस का शिकंजा

टीवी100 नाम का न्यूज चैनल इन दिनों संकट में घिरा हुआ है। बताया जाता है कि पिछले दिनों इस चैनल के प्रबंधन के इशारे पर अलीगढ़ के स्ट्रिंगर ने ताले के एक बड़े एक्सपोर्टर की फैक्ट्री में चाइल्ड लेबर को लेकर स्टोरी की। सूत्रों के मुताबिक चैनल प्रबंधक और अलीगढ़ का ताला व्यवसायी कभी आपस में दोस्त हुआ करते थे। बाद में किसी बात पर खटपट हो गई। स्ट्रिंगर ने ताला व्यवसायी की फैक्ट्री में चाइल्ड लेबर को लेकर जो स्टोरी की उसे प्रबंधन ने चैनल पर दिखाकर सीधे-सीधे अदावत मोल लेने की बजाय आईटी के जरिए यूट्यूब पर लोड करा दिया। जानकारी मिलने पर ताला व्यवसायी ने यूट्यूब पर अपनी कंपनी के खिलाफ दुर्भावना से पूर्ण फर्जी स्टोरी लोड किए जाने की शिकायत यूपी पुलिस से की। प्रभावशाली ताला व्यवसायी के बड़े संपर्कों की वजह से यूपी पुलिस की स्पेशल टीम तुरंत सक्रिय हो गई।

जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि यह वीडियो नोएडा स्थित टीवी100 के आफिस से लोड किया गया है। पुलिस टीम ने यहां छापा मारा और आईटी हेड राम नगीना को अरेस्ट कर लिया। उनके बयान के आधार पर आईटी के दो और लोगों को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार लोगों ने वीडियो लोड करने के लिए प्रबंधन के दबाव का खुलासा किया। बताते हैं कि पुलिस ने चैनल के न्यूज रूम में काफी बवाल काटा। कई साफ्टवेयर क्षतिग्रस्त करने और कुछ को निकाल ले जाने के आरोप भी पुलिस पर लगे है। सूत्रों के मुताबिक पुलिस ने चैनल का प्रसारण रुकवा दिया और चैनल के मालिकों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू कर दी। चैनल मालिक एसके गुप्ता उर्फ सुरेंद्र कुमार गुप्ता व उनके दो बेटों के खिलाफ पुलिस अरेस्ट वारंट लेकर आई थी। मालिकों ने आनन-फानन में अरेस्ट वारंट के खिलाफ स्टे हासिल करने का जुगाड़ किया और इसमें कामयाबी भी पाई।

भड़ास4मीडिया ने टीवी100 के न्यूज एडीटर हितेश गुप्ता से संपर्क किया तो उनका कहना था कि चैनल आन एयर है। टीवी100 उत्तराखंड का रीजनल चैनल है और जल्द ही इसका विस्तार यूपी में भी किया जाने वाला है। उन्होंने चैनल बंद होने की बात का खंडन किया पर पुलिस के छापे की बात को स्वीकार किया। आईटी हेड राम नगीना के गिरफ्तार किए जाने की पुष्टि की। उनका कहना था कि इस मामले से चैनल का कोई लेना-देना नहीं है। यह आईटी के कुछ लोगों और अलीगढ़ के स्ट्रिंगर की कारस्तानी है जिसमें चैनल को बेवजह घसीटा जा रहा है। हितेश का कहना है कि अगर स्टोरी ठीक होती तो हम उसे चैनल पर जरूर चलाते लेकिन स्टोरी में कई तरह की कमियों की वजह से हमने उसे चलाने से मना कर दिया।

सूत्रों का कहना है कि टीवी100 का ज्यादातर स्टाफ इस घटना के बाद से सकते में है और आफिस नहीं आ रहा है। प्रबंधन से जुड़े लोग भूमिगत है। हालांकि बताया जा रहा है कि उनके पास 10 दिसंबर तक का स्टे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *