रामेश्वर पांडेय, विनोद शील और सदगुरु शरण का ट्रांसफर

संपादक पद से हटाकर ‘काका’ को दी गई बड़ी जिम्मेदारी : विनोद शील की लाटरी लगी : सदगुरु बने इलाहाबाद के संपादकीय प्रभारी : आशुतोष शुक्ला न्यूज एडिटर बने : दैनिक जागरण से एक बड़ी खबर। वरिष्ठ पत्रकार रामेश्वर पांडेय उर्फ ‘काका’ को दैनिक जागरण, कानपुर के संपादक पद से हटा दिया गया है। उनका ट्रांसफर दैनिक जागरण, लखनऊ में कर दिया गया है। वे स्टेट हेड के बतौर काम देखेंगे। सूत्रों का कहना है कि दैनिक जागरण में स्टेट हेड का नया पद सृजित किया गया है। कुछ लोग यह भी कह रहे हैं कि रामेश्वर पांडेय को लखनऊ खास मकसद से भेजा जा रहा है। यह मकसद संपादक शेखर त्रिपाठी की घेराबंदी करना है। इस बात का संकेत आशुतोष शुक्ला को दैनिक जागरण, लखनऊ में ही तरक्की देकर न्यूज एडिटर बनाए जाने से होता है।

अभी तक न्यूज एडिटर के रूप में विनोद शील काम कर रहे थे। विनोद शील दैनिक जागरण, लखनऊ में यूपी डेस्क के प्रभारी थे। उन्हें दैनिक जागरण, कानपुर का संपादक बना दिया गया है। विनोद शील वही हैं जिनसे मुक्ति पाने के लिए जागरण के मालिक संजय गुप्ता ने उन्हें नोएडा से लखनऊ भेज दिया था। काफी दिनों तक लखनऊ में डेस्क इंचार्ज के रूप में अज्ञातवास काट रहे विनोद शील पर प्रबंधन अब मेहरबान हुआ है।

एक अन्य जानकारी के अनुसार दैनिक जागरण, लखनऊ के स्टेट ब्यूरो में कार्यरत सदगुरु शरण को दैनिक जागरण, इलाहाबाद का संपादकीय प्रभारी बना दिया गया है। अभी तक रतिभान त्रिपाठी एडिटोरियल इंचार्ज के रूप में इलाहाबाद में कार्य कर रहे थे। सदगुरु के जाने से रतिभान का क्या होगा, यह पता नहीं चल पाया है लेकिन सूत्रों का कहना है कि रतिभान इलाहाबाद में ही सदगुरु के अधीन रहकर काम करने को राजी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *