हिंदी की दुर्दशा से आहत आनंद प्रकाश कल लगा लेंगे फांसी!

आज हमारे देश में हिंदी भाषा को पहला दर्जा मिला हुआ है और किसी भी दफ्तर में किसी भी प्रकार का काम करने के लिए हिंदी का प्रयोग करना अनिवार्य किया गया है, परन्तु इन सब के बावजूद भी हिंदी की दुर्दशा आज इतनी हो गई है की हरियाणा के किसी भी दफ्तर में व किसी भी वाहन पर नेम प्लेट अंग्रेजी में ही मिलेगी. सरकारी कामकाज व चिट्ठी-पत्र आदि अंग्रेजी में ही लिखे जा रहे हैं, वही जिला प्रशासन के सभी अधिकारी अपने दफ्तर के बाहर अपनी नेम प्लेट हिंदी में न लिखवा कर अंग्रेजी में ही लिखवा रहे है.

आनंद प्रभारी बने, ‘आज समाज’ से दो गए

जागरण प्रबंधन ने आनंद शर्मा को दैनिक जागरण, आगरा का संपादकीय प्रभारी घोषित कर दिया है. कल आगरा में दैनिक जागरण के निदेशक देवेश गुप्ता ने संपादकीय विभाग की एक बैठक ली. बैठक में आनंद शर्मा को प्रमोट कर समाचार संपादक बनाए जाने का ऐलान किया. आनंद एनई के रूप में जागरण, आगरा के न्यूज रूम के हेड होंगे.

दैनिक जागरण, मेरठ व आगरा में बदलाव

आनंद शर्मा संपादकीय प्रभारी : अवधेश माहेश्वरी चीफ रिपोर्टर : दैनिक जागरण में मैनेजरों से संपादकीय अलग करने की जो कवायद शुरू हुई है उसी के तहत खबर है कि दैनिक जागरण, आगरा का नया संपादकीय प्रभारी आनंद शर्मा को बनाया गया है. अभी तक सरोज अवस्थी जनरल मैनेजर के रूप में संपादकीय समेत सभी विभागों के हेड हुआ करते थे.