हाय रे यूपी! भ्रष्‍टाचार की जानकारी मांगी तो दलित उत्‍पीड़न में फंसा देंगे अधिकारी

उत्‍तर प्रदेश में अब अधिकारी अपने गलत-सही कार्यों पर पर्दा डालने के लिए लोगों को नए तरीकों से डराना-धमकाना भी शुरू कर दिया है. ताजा मामला है गाजीपुर जिले का. जिला पंचायत सदस्‍य बृज भूषण दुबे द्वारा लोकवाणी के माध्‍यम से मांगी गई जानकारी पर अपर मुख्‍य अधिकारी इतना भड़के कि उन्‍होंने सूचना मांगने वाले को ही पत्र लिखकर हरिजन उत्‍पीड़न के तहत मुकदमा दर्ज करने की चेतावनी दे डाली. जबकि सूचना पत्र में कहीं भी जाति या धर्म किसी प्रकार का उल्‍लेख नहीं किया गया था.

स्टार न्यूज में 650 रुपये प्रति घंटे की दर से स्क्राल बुक कराएं

अपनी खबरों तथा बेहतरीन समाचार कवरेज करने वाले न्‍यूज चैनल के रूप में पहचान रखने वाला स्‍टार न्‍यूज भी लोकल चैनलों की कटेगरी में आ गया है. घबराइये मत, खबरों के मामले में नहीं बल्कि विज्ञापन दर के मामले में. अब आप भी स्‍टार न्‍यूज पर आप कुछ घंटों तक पट्टी पर अपना नाम, पता या जो कुछ भी चाहें लोगों को दिखा सकते हैं, बिल्‍कुल ही सस्‍ती दर पर.

गाजीपुर प्रेस क्‍लब हाईटेक हुआ

: कम्‍प्‍यूटर कक्ष का उद्घाटन : गाजीपुर पत्रकार एसोसिएशन का कार्यालय अब हाईटेक हो गया है. मुंबई की संस्‍था अक्षर फाउंडेशन के अध्‍यक्ष तथा समाजसेवी सुभाष पासी की तरफ से एसोसिएशन को कम्‍प्‍यूटर उपलब्‍ध कराया गया. कम्‍प्‍यूटर कक्ष का उद्घाटन सुभाष पासी ने किया. श्री पासी को जब यह जानकारी हुई कि एसोसिएशन के पास अपना भवन नहीं है तो उन्‍होंने तत्‍काल जमीन तथा प्रेस क्‍लब के लिए धन उपलब्‍ध कराने आश्‍वासन दिया. उन्‍होंने पत्रकारों से कहा अब आपको कहीं भटकने की जरूरत नहीं है. आप जमीन देखें मेरी संस्‍था एसोसिएशन के नाम पर इसकी रजिस्‍ट्री और इस पर भवन निर्माण करायेगी.

एक सिपाही ने किया अधिकारियों के घोटाले का पर्दाफाश!

[caption id="attachment_18955" align="alignleft" width="88"]बृजेंद्र यादवबृजेंद्र यादव[/caption]कौन कहता है कि आसमां में सुराख नहीं हो सकता… बस एक पत्थर तबीयत से तो उछालो यारों…  ये शायरी की पंक्तियां उन लोगों पर लागू होती है जो किसी भी नामुमकिन चीज को मुमकिन करने का जज्बा दिल में रखे होते हैं। ऐसा ही कुछ गाजीपुर जनपद के एक सिपाही के जज्बे को देख कर लगता है। जिन्‍होंने देश की कानून व्‍यवस्‍था चलाने वाले आईपीएस लोगों द्वारा प्रतिवर्ष किए जाने वाले करोड़ों के घोटाले को हाईकोर्ट व सूचना के अधिकार का प्रयोग करके सबके सामने ला दिया है।

जागरण, धनबाद से जुड़े प्राणेश, अनिल और गुंजन

प्रभात खबर, पटना को तीन लोगों ने अलविदा कह दिया है. जबकि तीन और लोगों के शीघ्र ही अखबार छोड़ने की बात कही जा रही है. इस्‍तीफा देने वालों में प्राणेश कुमार, अनिल कुमार एवं गुंजन गांगुली शामिल हैं. इन तीनों ने अपनी नई पारी दैनिक जागरण, धनबाद के साथ शुरू कर दी है.

कम हो गई है कलम की धार

राष्‍ट्रीय पत्रकारिता दिवस के अवसर पर जिला सूचना अधिकारी कार्यालय, गाजीपुर में एक गोष्‍ठी का आयोजन किया गया. जिसमें ‘मीडिया तथा कारपोरेट वर्ल्‍ड की चुनौतियां और अवसर’ विषय पर चर्चा आयोजित की गई. गोष्‍ठी में जनपद भर से जुटे दर्जनों पत्रकारों ने अपने-अपने विचार रखे.  भारतीय प्रेस परिषद एवं निदेशक, सूचना व जनसम्‍पर्क विभाग उत्‍तर प्रदेश के आदेश पर इस कार्यक्रम को जिला सूचना विभाग ने आयोजित किया.

चौकी इंचार्ज ने पत्रकार को किया अपमानित

: गाजीपुर में पुलिस की दबंगई जारी : गाजीपुर में गोरा बाजार चौकी इंचार्ज एक पत्रकार को कालार पकड़कर सबके सामने अपमानित किया। उक्‍त मामला त्रिस्‍तरीय पंचायत चुनाव की मतगणना के दौरान घटित हुई। सरकारी महकमें में पत्रकारों को फर्जी कहने का चलन सा हो गया है। उक्‍त दारोगा ने भी एक अखबार के पत्रकार को फर्जी कहकर मतगणना स्‍थल से बाहर निकाल दिया। इस घटना के बाद से जनपद के पत्रकारों में रोष व्‍याप्‍त है।