और बरखा दत्त के बचाव का सिलसिला जारी

बरखा दत्त - नीरा राडिया: एक आलेख के जरिए टेपों पर बरखा दत्त ने रखा अपना पक्ष : नीरा राडिया के साथ बातचीत कर वरिष्ठ व चर्चित पत्रकार बरखा दत्त भी विवादों में घिरी हैं. नीरा से बातचीत के टेपों के सार्वजनिक होने के बाद पहले एनडीटीवी समूह ने बरखा दत्त का बचाव किया लेकिन सवालों व संदेहों की संख्या जयादा होते देख और मामले के तूल पकड़ते देख अब खुद बरखा दत्त अपने बचाव में मैदान में उतर पड़ी हैं. उन्होंने एनडीटीवी डॉट कॉम पर पूरे प्रकरण, आरोपों व घटनाक्रम को लेकर अपना लंबा-चौड़ा पक्ष रखा है. पत्रकारिता का नियम यह है कि अगर आरोपी अपने बचाव में कुछ कहता है तो उसकी बात को उतनी ही गंभीरता से सुना जाना चाहिए जितनी गंभीरता से उस पर लगाए गए आरोपों को सुना जाता है. लीजिए, बरखा दत्त की बात को सुनिए और उनके कहे के मर्म को बूझिए.

बरखा, रंजिनी समेत कई को मिलेगा एवार्ड

सम्मान समारोहों और एवार्डों की घोषणाओं के बीच में एक खबर बरखा दत्त के बारे में है. पिछले कुछ समय से विवादों में घिरीं बरखा को पत्रकारिता क्षेत्र में योगदान के लिए ‘मीडिया स्‍टार ऑफ द डेकेड’ अवार्ड के लिए चुना गया है. एनडीटीवी से जुड़ीं एडिटर, रिपोर्टर और एंकर बरखा दत्त को इस पुरस्‍कार के तहत 50,001 रुपये नकद दिया जाएगा. साथ ही उन्हें प्रशस्ति पत्र भी प्रदान किया जाएगा. रंजिनी हरिदास को ‘पापुलर एंकर’ कैटगरी का एवार्ड दिया जाएगा. इस पुरस्कार के लिए चयनित रंजिनी को 10,001 रुपये नकद और प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा.