पदमपति और मनोज भावुक का इस्तीफा

[caption id="attachment_15464" align="alignleft"]पदमपति शर्मा और मनोज भावुकपदमपति शर्मा और मनोज भावुक[/caption]भोजपुरी के दो चैनलों ‘महुआ न्यूज’ और ‘हमार टीवी’ में कार्यरत एक-एक पत्रकारों ने इस्तीफा दे दिया है। महुआ न्यूज के स्पोर्ट्स हेड और वरिष्ठ पत्रकार पदमपति शर्मा के बारे में खबर है कि उन्होंने इस चैनल से नाता तोड़ लिया है। 30 वर्षों से हिंदी खेल पत्रकारिता में नेतृत्वकारी भूमिका में सक्रिय पदमपति आज, दैनिक जागरण, अमर उजाला और हिंदुस्तान जैसे अखबारों में खेल के सर्वोच्च पदों पर रहे हैं। महुआ न्यूज ज्वाइन करने से पहले वे दिल्ली से प्रकाशित डैश मैग्जीन में एसोसिएट एडिटर के रूप में कार्यरत थे। महुआ न्यूज से उन्होंने इस्तीफा क्यों दिया, यह पता नहीं चल पाया है। वे कहां जा रहे हैं, इसकी भी सूचना नहीं मिल पाई है।

अबकी आवे अइसन नयका साल….

मनोज 'भावुक'अबकी आवे अइसन नयका साल,  सबका थाली में हो रोटी दाल.

भाभी के पिल्ला चाभेला रोजे दूध मलाई. 

भउजी के लल्ला रोवेला भूखे माई माई.

एह अन्तर के खाई पाटे, सभे होय खुशहाल.

अबकी आवे अइसन नयका साल, सबका थाली में हो रोटी दाल.

 नइखी माँगत दिन सोना के, आ चांदी के रात.

श्रम के लाठी से दलिद्दर के भगावल जाये

मनोज भावुकअबकी दियरी के परब अइसे मनावल जाये।

मन के अँगना में एगो दीप जरावल जाये।।

रोशनी गाँव में, दिल्ली से ले आवल जाये।

कैद सूरज के अब आजाद करावल जाये।।

हिन्दू, मुसलिम ना, ईसाई ना, सिक्ख, ए भाई।

अपना औलाद के इंसान बनावल जाये।।