प्रदीप कहते थे- ‘अभी बहुत दूर जाना है’, पर इतने दूर चले जाएंगे, ये आशंका न थी

आज सुबह सुबह कुछ पुराने दोस्तों के मैसेज आये कि अपना एक पुराना साथी अब इस दुनिया में नहीं रहा… मन में जिज्ञासा हुई कि कौन है वो, तभी मैंने कुछ दोस्तों को फोन मिलाया तो पता चला कि जी न्यूज के काबिल व तेज तर्रार रिपोर्टरों में से एक प्रदीप राय नहीं रहे। प्रदीप से मेरी मुलाकात कुछ 5 साल पहले फील्ड में हुई थी.. तब मैं आजाद न्यूज में क्राइम रिपोर्टर हुआ करता था। उन्हीं दिनों प्रदीप दिल्ली में नये-नये आये हुए थे।