निशंकजी, मेहरबानी बड़े अखबारों पर ही क्यों!

: निशंक सरकार ने छोटे अखबारों के विज्ञापन का भुगतान अभी तक नहीं किया : उत्तराखण्ड सूचना एवं लोक सम्पर्क विभाग ने साप्ताहिक व छोटे समाचार पत्रों के कई माह पुराने विज्ञापन बिलों का भुगतान नहीं किया है. इससे इन अखबारवालों की दीवाली फीकी रही. हरिद्वार में कुंभ को सम्पन्न हुए 9 माह से अधिक बीत गये और सरकार ने कुंभ के सफल आयोजन पर वाहवाही भी लूट ली लेकिन उत्तराखण्ड की मीडिया को दिये गये विज्ञापनों का भुगतान अभी तक नहीं किया.