डीएनए ग्रुप वेज बोर्ड के पक्ष में खुलकर उतरा

डीएनए में एक आलेख छपा है. योगेश पवार का. What is sauce for the goose… शीर्षक से. पढ़िए और खुश होइए. इस नेक इरादे, खुलकर सामने आने और साहस के साथ एक अच्छा पक्ष चुनने के लिए डीएनए को थैंक्यू कहा जाना चाहिए. और, बाकी अखबार मालिकों को इससे सबक लेना चाहिए. खासकर टीओआई – नभाटा वालों को जो इन दिनों वेज बोर्ड के खिलाफ अभियान-सा चलाए हुए हैं.

संपादक आदित्य सिन्हा की नई सनसनी

: पेड न्यूज मुक्त अखबार होने का लिखित ऐलान कर डाला : जैसे पुलिस थानों के सामने लिखा होता है कि दलालों का प्रवेश वर्जित, पर थानों में सबसे सहज इंट्री इन्हीं दलालों की होती है, उसी तरह अब पेड न्यूज सिंड्रोम को भुनाने की कोशिश मीडिया हाउस करने लगे हैं और इसकी पहली कड़ी में आज से मुंबई से प्रकाशित अंग्रेजी दैनिक डेली न्यूज एंड एनालिसिस (डीएनए) ने फर्स्ट पेज पर एक मुहर नुमा लोगो प्रकाशित करना शुरू किया है जिसमें पेड न्यूज लिखे शब्द के उपर क्रास का निशान बना हुआ है.