वेतन बोर्ड लागू न करने पर पत्रकारों ने सरकार को दी चेतावनी

वेतन बोर्ड लागू करने में हो रही देरी से नाराज पत्रकारों ने शुक्रवार को यहां श्रम मंत्रालय और अखबार मालिकों के संगठन आईएनएस के सामने विरोध प्रदर्शन करते हुए सरकार को चेतावनी दी कि अगर 16 जून तक इस संबंध में अधिसूचना जारी नहीं की गई, तो वे देशव्‍यापी हड़ताल प्रदर्शन करेंगे.  वेतन बोर्ड लागू करने की मांग को लेकर तख्तियां और बैनर लिए आईएनएस के सामने जुटे पत्रकारों और गैर पत्रकारों ने इस दलील को झूठ बताया कि इसे लागू होने से अखबार उद्योग कठिनाई में आ जाएगा.

एसएन सिन्‍हा चुने गए आईजेयू के अध्‍यक्ष, डी अमर महासचिव

[caption id="attachment_20220" align="alignleft" width="83"]सिन्‍हाएसएन सिन्‍हा[/caption]इंडियन जर्नलिस्‍ट यूनियन (आईजेयू) के 2010 के चुनाव में दिल्‍ली के एसएन सिन्‍हा को अध्‍यक्ष तथा आंध्र प्रदेश के देवुल्‍लापल्‍ली अमर को महासचिव चुना गया है. इन लोगों का चयन निर्विरोध किया गया है. ये अगले दो सालों तक संगठन के अध्‍यक्ष तथा महासचिव पद पर बने रहेंगे. इन दोनों लोगों के चुने जाने की घोषणा आईजेयू के चुनाव अधिकारी एचएस हरदेनिया ने किया.

आईजेयू के अध्‍यक्ष सुरेश अखौरी को कारण बताओ नोटिस

: संगठन के महासचिव के श्रीनिवास रेड्डी ने दिया नोटिस : To, Mr. Suresh Akhouri, President, Indian Journalists Union, New Delhi. The National Executive of the Indian Journalists Union which met at 5-6 March 2011 in New Delhi took serious view of your disruptive activities which brought disrepute the fair name of the Indian Journalists Union. It also noted that your actions showed your determination to cling to the post of President of the Indian Journalists Union in perpetuity. To achieve that end, you have been acting with an ulterior motive and in violation of the provisions of the Union Constitution and trying to disrupt the unity of the Union.

”सुरेश अखौरी से आईजेयू को बचाने के लिए आगे आएं”

: संगठनतोड़क शक्तियों के खिलाफ एकजुट होने की अपील : दोस्तों, जैसा कि आपको अख़बारों से पता चला होगा कि इंडियन जर्नलिस्ट्स यूनियन, जिसकी बिहार श्रमजीवी पत्रकार यूनियन भी एक सम्बद्ध इकाई है, आज दो गुटों में बँट गयी है. आईजेयू में असली आईजेयू से अलग एक नया नकली गुट प्रेसिडेंट सुरेश प्रसाद अखौरी जी का बन गया है. सेक्रेटरी जेनरल के. श्रीनिवास रेड्डी के साथ वे लोग हैं जो आईजेयू के संविधान के मुताबिक चलने वाले लोग हैं.