संपादक ने पत्रकार को नौकरी से निकाला, सदमे ने ले ली ससुर की जान

अमर उजाला, लखनऊ के संपादक डा. इदुशेखर पंचोली के अत्‍याचार ने एक पत्रकार के ससुर की जान ले ली. दामाद की नौकरी जाने का उनको इतना गहरा सदमा लगा कि हार्ट-अटैक से उनकी मौत हो गई. अब तक अपनी डांट से कई अधीनस्‍थों को बेहोश कर चुके इंदुशेखर पंचोली पर चाहे-अनचाहे एक व्‍यक्ति की जान लेने का आरोप भी लग गया है. घटना से नाराज लखनऊ के पत्रकार पंचोली पर हत्‍या का मुकदमा दर्ज किए जाने की मांग की है.

संपादक की डांट से बेहोश हो गए डेस्‍क इंचार्ज!

लखनऊ। अमर उजाला लखनऊ से एक खबर यह आ रही है कि रविवार की रात एक बजे संपादक की डांट खाकर जनरल डेस्क इंचार्ज को बेहोशी आ गयी। जब तक साथी लोग इंचार्ज को अस्पताल ले जाते तभी सूचना मिलने पर संपादक जी भी दौड़े हुए आ पहुंचे और तीमारदारी करके चंगा करने में जुट गए। संपादक इंदुशेखर पंचोली की डांट खाकर छह लोगों को अबतक बेहोशी आने की खबर है। कुछ लोग तो बिना किसी को कुछ बताए चुपचाप अमर उजाला को बॉय बोलकर पतली गली से अन्यत्र निकल गए।

बहुत प्रताड़ित करता है ये इंदुशेखर पंचोली

: इसलिए हे अतुल माहेश्वरी जी, मेरा इस्तीफा अब स्वीकार कर लें : सेवा में, श्री अतुल माहेश्वरी जी, निदेशक, अमर उजाला,  सादर नमस्कार, महोदय, मैं अमर उजाला में पंचकूला यूनिट में कार्यरत था। जहां से 23 मई 2010 को मेरा स्थानांतरण लखनउ यूनिट के लिए किया गया। तबसे आज तक पूरी निष्ठा और मनोयोग के साथ मैं संस्थान को अपनी सेवाएं दे रहा हूं। क्षमता से अधिक कार्य करने का मेरा रिकार्ड रहा है। यह अलग बात है कि संपादक इंदुशेखर पंचोली का व्यवहार पहले दिन से ही मेरे लिए ठीक नहीं रहा। वे आए दिन मुझसे गाली गलौज करते रहे। पन्ने फेंककर सबके सामने उन्होंने मेरी बेइज्जती की। इसकी तस्दीक आप अमर उजाला के किसी भी स्टाफ से करा सकते हैं।

पंचोली को फिर आया गुस्सा

अमर उजाला, लखनऊ के संपादक पंचोली साहब उर्फ इंदु शेखर पंचोली को फिर जमकर गुस्सा आ गया. आमतौर पर लोग छुट्टियों से लौट कर फ्रेश मूड में आफिस ज्वाइन करते हैं और हंसी-खुशी काम करते-कराते हैं लेकिन पंचोली साहब छुट्टी से लौटे तो तेवर और ज्यादा तीखे थे. सिटी चीफ राधाकृष्ण त्रिपाठी डे प्लान लेकर उनकी केबिन में गए तो पंचोली साहब ने यह कहते हुए डे प्लान फेंक दिया.

पंचोली व प्रभात के तबादले की चर्चा जोरों पर

: राजेंद्र तिवारी अमर उजाला, लखनऊ के संपादक बनने की चर्चा : अमर उजाला में कुछ उठापटक होने की चर्चा अंदरखाने जोरों पर है. कहा जा रहा है कि राजेंद्र तिवारी अमर उजाला, लखनऊ के नए संपादक के रूप में ज्वाइन कर सकते हैं. इंदुशेखर पंचोली का तबादला अमर उजाला, बरेली के स्थानीय संपादक के रूप में किया जा सकता है. बरेली के आरई के रूप में काम देख रहे प्रभात सिंह को नोएडा भेजे जाने की तैयारी है. ये तीनों चर्चाएं एक-एक कर कल दोपहर से फैलनी शुरू हुई.

कैसा एडिटर चाहिए लखनवी अमरउजालाइटों को?

इंदुशेखर पंचोली से भी खफा होने और कामकाज के तरीके पर उंगली उठाने का दौर शुरू : अमर उजाला, लखनऊ आफिस वालों को फिर नया एडिटर रास नहीं आ रहा है. खबर है कि अभिजीत मिश्रा की जगह लखनऊ के नए आरई बने इंदुशेखर पंचोली के सख्त व्यवहार से कई अमरउजालाइट नाराज हैं और लंबी छुट्टी पर जाने की तैयारी कर रहे हैं. इन लोगों का आरोप है कि नए आरई का स्टाफ के साथ व्यवहार अच्छा नहीं है और बात-बात पर जलील करते हैं.

इंदुशेखर अमर उजाला, लखनऊ के नए आरई

अभी अभी खबर आई है कि इंदुशेखर पंचोली को अमर उजाला, लखनऊ का नया रेजीडेंट एडिटर बना दिया गया. इससे पहले पंचोली दैनिक भास्कर समूह के साथ कार्यरत थे. उन्होंने कुछ समय पहले ही भास्कर से इस्तीफा दिया था. वे दैनिक भास्कर, जयपुर में कार्यकारी संपादक पद पर रहते हुए अपना इस्तीफा प्रबंधन को भेजा था. वे कुछ महीनों से आराम कर रहे थे. पंचोली दैनिक भास्कर के लिए कोटा और अजमेर में भी स्थानीय संपादक के रूप में काम कर चुके हैं.